सपा नेता के बेटे की गुंडई, पुलिस पर की फायरिंग

दो हमलावरों को पुलिस ने पकड़ा, विदेशी पिस्टल बरामद...

By: ज्योति मिनी

Published: 09 Dec 2017, 12:33 PM IST

जौनपुर. चंदवक थाना क्षेत्र के डोभी ब्लॉक प्रमुख शिव शंकर यादव के बेटे जितेंद्र यादव ने शुक्रवार देर शाम अपने साथियों के साथ डोभी रेलवे क्रॉसिंग पर पुलिस टीम पर फायर कर दिया। संयोग था कि गोली नहीं लगी । पुलिस ने घेराबंदी कर दो हमलावरों को पकड़ लिया। उनके पास से 9 एमएम का विदेशी पिस्टल व कारतूस बरामद हुआ।


गोनौली निवासी जितेंद्र यादव व चचेरा भाई कृष्णा यादव को पुलिस लेकर उनके अन्य साथियों की तलाश कर रही है। थानाध्यक्ष विश्वजीत प्रताप सिंह हमराहियों के साथ गश्त करते हुए खुझी की तरफ से थाने जा रहे थे। बाजार की तरफ से जितेंद्र यादव कृष्ना यादव के साथ गोनौली घर की तरफ जा रहा था।गोनौली रेलवे क्रासिंग पर तीन चार बाइक सवारों व फोर व्हीलर देख पुलिस पार्टी को मामला संदिग्ध लगा और पुलिस पार्टी ने सभी को रोकना चाहा।इतने में जितेंद्र यादव गोली चलाने लगा।

 

दो तीन राउंड फायरिंग के बाद अन्य साथी भाग निकले। पुलिस ने बचाव करते हुए घेरा बंदी कर जितेंद्र यादव व कृष्णा यादव को पकड़ लिया।जितेंद्र यादव के पास से नाइन एम एम की विदेशी पिस्टल व कुछ कारतूस बरामद हुआ। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है।अन्य लोगों की तलाश में पुलिस पार्टी जगह जगह दबिश दे रही है।

 

यह भी पढ़ें-

स्वर्ण व्यवसायी को अधमरा कर 10 लाख की लूट

रामपुर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव के पास शुक्रवार की शाम तीन बदमाशों ने सराफा व्यापारी को अधमरा कर छह लाख कैश और लाखों के जेवर लूट लिये। खबर मिलते ही पुलिस ने वायरलेस से सूचना प्रसारित कर चेकिंग अभियान चलायाए लेकिन देर शाम तक कोई सफलता नहीं मिल सकी। घायल को गंभीर हालत में अस्पताल भेजा गया।

रामपुर गांव निवासी विनोद सेठ की विनोद ज्वेलर्स के नाम से बाजार में ही दुकान है। शाम को वह दुकान बंद कर बाइक से भतीजे दीपक के साथ घर जा रहे थे। गांव से पचास मीटर पहले बाइक सवार तीन नकाबपोश बदमाशों ने अचानक घेर कर बाइक रोक ली। इससे पहले कि वे कुछ कर पाते बदमाशों ने तमंचे की मुठिया व हाकी से उनके सिर पर वार कर दिया। दहशत के कारण उनका भतीजा विरोध नहीं कर सका और बदमाश बाइक की डिक्की में रखे छह लाख नकद व आभूषण वाला बैग लेकर भाग निकले। बुरी तरह घायल सराफा कारोबारी अपने भतीजे और आसपास के लोगों की मदद से थाने पहुंचा और घटना की जानकारी दी। थाने में ही उन की हालत और गंभीर हो गई। इसके बाद उन्हें जिला अस्पताल भेज दिया गया। खबर लगते ही पुलिस सक्रिय हो गई। नाकाबंदी की गई लेकिन बदमाशों का सुराग नहीं लगा। अनुमान लगाया जा रहा है कि करीब 10 लाख की लूट हुई है।

input- जावेद अहमद

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned