गड्ढों में ढूंढनी पड़ रही सड़क, हाईवे पर निकलना बना खतरा

गड्ढों में ढूंढनी पड़ रही सड़क, हाईवे पर निकलना बना खतरा

Amit Mandloi | Publish: Aug, 12 2018 05:19:46 PM (IST) Jhabua, Madhya Pradesh, India

पेंचवर्क भी नहीं किया, थोड़ी सी बारिश में गड्ढों में पानी भरने से खतरनाक हो रहा सफर

झाबुआ। जिलेभर में अभी तक ठीक से बारिश भी नहीं हुई , लेकिन सड़कों की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। शहर में आने वाले मार्गो पर होने वाले गड्ढे दुर्घटना को न्योता देते दिखाई देते हैं। पेंचवर्क भी नहीं किया गया। जिससे धीरे-धीरे गड्ढे जानलेवा बन गए हैं। शहर से 5 किलोमीटर दूर फुलमाल तिराहा पर डामर से गिट्टी व चूरी निकलकर बिखर गई है। इस वजह से तिराहा पूरी तरह खराब हो गया है। बड़े होने के बाद वाहनों ने सड़क किनारे चलना शुरू कर दिया था लेकिन अब सड़क के किनारों पर भी बड़े.बड़े गड्ढे हो गए हैं । यहां की स्थिति यह है कि गुजरने के लिए पगडंडीनुमा रास्ता भी सही नहीं है । भारी और ओवर लोड वाहन की वजह से यह गड्ढे बहुत ही गहरे हो गए हैं । यहीं से गुजरात जाने का मार्ग भी शुरू होता है । अंतर्राजीय सीमा होने के कारण यहां से भारी वाहन अधिक गुजरते हैं । हर साल यहां सड़क के यही हाल रहते हैं। सड़क बनाने में भी गुणवत्ता का ?याल नहीं रखा गया। इस वजह से थोड़ी सी बारिश में ही सड़क पर जगह-जगह से डामर उखड़ गया है। मेघनगर नाके से लेकर फुलमाल तक सड़क पर जगह.जगह बड़े.बड़े गड्ढे होने से वाहन चालकों को दुर्घटना का शिकार होना पड़ रहा है। यह गड्ढे इतने बड़े हैं कि भारी वाहन चालकों को भी सड़क के किनारे होते हुए गुजरना पड़ रहा है जिससे सड़क पर सफर कर रहे दोपहिया वाहन के चपेट में आने का खतरा ज्यादा बढ़ गया है।

बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं, जिनमें पानी भरने से गड्ढे का पता नहीं चल पाता और वाहन का संतुलन बिगड़ जाता है। इससे लोग प्रतिदिन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। हरिकिशन वाघेला और जितेन चावड़ा प्रतिदिन मेघनगर से अप डाउन करते हैं उन्होंने कहा सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं के लिए कौन जि?मेदार हैं। उन पर केस दर्ज होना चाहिए। जरा सी बारिश में रोड का डामरीकरण की पोल खुल गई। बारिश की शुरुआत में ही सड़क खराब हुई है। उसे ठीक करवाया जाए। पानी की निकासी ठीक से नहीं हो पाने से समस्या विकट है। पानी भरने से सड़क खराब हो रही है। यहां सफर कर रहे अन्य लोगों ने इस सड़क को खूनी और हत्यारी सड़क बताया है। हाईवे की हालत के लिए कई आंदोलन हो चुके हैं। सांसद कांतिलाल भूरिया खुद धरने पर बैठ चुके हैं। सांसद के कहने पर इस बार केन्द्र ने दिसंबर तक काम पूरा होने की बात कही है। आश्वासनों का यह सिलसिला पांच साल से चल रहा है।
पुल पुलिया का काम भी चल रहा
झाबुआ से देवझिरी जाने वाले मार्ग स्थिति बद से बदतर हो चली थोड़ी थोड़ी दूर पर बड़े.बड़े गड्ढे हो चुके हैं। यहां पर रोड पर पुल पुलिया का काम भी चल रहा है। निर्माण कार्य की सामग्री भी नहीं फैली हुई है । जिससे यहां कीचड़ उत्पन्न हो रहा है । बारिश में आने जाने में राहगीरों को समस्याओं से रूबरू होना पड़ रहा है। आसपास गांव से आने वाले लोग भी इस समस्या से जूझते आ रहे हैं। सड़क के गड्ढों को बचाने में अक्सर अनियंत्रित होकर सामने से आ रहे वाहन से टक्कर लगने की घटनाएं घट रही है। गनीमत है कि अभी तक कोई भीषण हादसा नहीं हुआ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned