इंस्टाग्राम पर फांसी लगाते लाइव वीडियो बनाया, देखकर दोस्त घर पहुंचे तब तक हो गई मौत

-प्यार में असफल होकर युवक ने की आत्महत्या, मरीमाता तिराहे के समीप स्थित राठौर बिल्डिंग में नानी के साथ रहता था

झाबुआ. प्यार में असफल होने पर एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसने इंस्टाग्राम पर आत्महत्या का लाइव वीडियो बनाया, जिसे देखकर उसके दोस्त दौड़े-दौड़े उसे बचाने पहुंचे, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई। यह चौकाने वाली घटना शनिवार देर रात की है।

25 वर्षीय युवक अक्षित राठौर लक्ष्मी नगर के मुहाने पर मरीमाता तिराहे के समीप स्थित राठौर बिल्डिंग में अपनी नानी सोषमा जॉर्ज मसीह के साथ रहता था। उसके माता-पिता का निधन हो चुका है। अक्षित वेब डिजाइनर था। शनिवार रात आत्महत्या करने से पहले अक्षित ने रात 11.26 से 12.45 बजे के बीच 19 मिनट में एक के बाद एक सात स्टेटस डाले और फंदे पर झूल गया। रात करीब 2 बजे उसके दोस्त मयंक चावड़ा की नजर जब अक्षित के स्टेटस पर पड़ी तो वह घबरा गया। अक्षित उसे फंदे पर लटका नजर आया। इसके बाद उसने अंकित बैरागी व निर्मल पचाया को फोन लगाया। तीनों फटाफट अक्षित के घर पहुंचे। दरवाजा उसकी नानी ने खोला। उन्होंने पूछा अक्षित कहां है तो नानी ने कहा उसके कमरे में। तीनों दोस्त सबसे आखिरी में बने बेडरूम तक पहुंचे और पहले दरवाजा बजाया। जब नहीं खुला तो दरार में से देखा। उन्हें अक्षित फंदे पर लटका नजर आया तो तीनों ने दरवाजा तोड़ दिया और उसे नीचे उतरा। तब तक अक्षित की मौत हो चुकी थी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। तब तक अक्षित के अन्य दोस्त भी घर के बाहर जमा हो गए। रात में ही पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायम किया। रविवार सुबह शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया। पुलिस के मुताबिक अक्षित किसी युवती से प्रेम करता था और संभवतया: युवती से उसकी अनबन हो गई थी। इसके चलते उसने इस तरह का गलत कदम उठाया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

पहले भी कई बार हाथ पर कट लगा चुका था अक्षित-

अक्षित के दोस्तों के अनुसार उसने पहली बार अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर इस तरह का स्टेटस नहीं डाला। वह पहले भी दो-तीन बार अपने हाथ पर ब्लेड से कट लगाकर इस तरह के स्टेटस पोस्ट कर चुका था। इस वजह से आत्महत्या करने से पहले उसके पहले-दूसरे स्टेटस को देखने के बावजूद दोस्तों ने उसे गंभीरता से नहीं लिया। जब वह फंदे पर लटका नजर आया और शरीर में कोई हरकत होती नहीं दिखी तो चिंता हुई और दोस्तों ने उसके घर की दौड़ लगाई।
दो-तीन दिन से डिप्रेशन में था-

अक्षित की नानी सोषमा जॉर्ज मसीह नर्स के पद से सेवानिवृत्त हुई। माता-पिता का निधन हो जाने से अक्षित उनके साथ ही रहता था। नानी ने बताया, वह दो-तीन दिन से डिपे्रशन में था। हालांकि अपनी कोई बात वह नानी से शेयर नहीं करता था। उन्हें भी इस तरह की उम्मीद नहीं थी कि अक्षित आत्महत्या जैसा कदम उठा लेगा। इससे उन्हें गहरा सदमा लगा।
रात में एक के बाद एक इस तरह डालते चला गया स्टेटस-

- रात 11.26 बजे एक साथ दो स्टेटस डाले। पहले में अंग्रेजी में लिखा- आई एम रेडी टू डाई। इसमें उसका हाथ नजर आ रहा है। जिस पर गहरे कट लगे हैं और साथ में जिस ब्लेड से कट लगाए वह रखी है। दूसरे स्टेटस में भी उसके कटे हुए हाथ से खून बहता नजर आ रहा है और लिखा है-रोक सको तो रोक लो।
- रात 11.27 बजे तीसरा स्टेटस डाला-मोर नी मी, बस कंधा देने आ जाना। साथ में रोते हुए स्माइली पोस्ट की है।

- रात 11.57 बजे अक्षित ने जो स्टेटस डाला उसमें वह पंखे पर फंदा बांधते नजर आ रहा है। साथ में लिखा है- लास्ट मैसेजे कि कभी किसी से प्यार मत करना वरना कभी न कभी तो एेसा करना पड़ेगा।
- रात 12.45 बजे एक साथ तीन स्टेटस डाले। पहले में लिखा- मुझे लास्ट टाइम जिसकी याद आई, मैंने कॉल कर लिया पर हार्डलक था। लास्ट टाइम में भी बात नहीं हुई। दूसरे स्टेटस में अक्षित ने अपने हाथ पर ढेर सारे कट लगाते हुए तस्वीर पोस्ट की और लिखा-इससे कुछ हुआ नहीं, इसलिए ये कर रहा हूं। इससे भी कुछ नहीं हुआ तो कोई न्यू स्टाइल अपनाउंगा पर कल का सूरज नहीं देखूंगा। इसी के साथ तीसरे स्टेटस में अक्षित गले में फंदा बांधते हुए दिख रहा है और साथ में लिखा है-एक बार तो टूट गया पर अब नहीं टूटेगा।

 

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned