कोराना का डर, बरतने लगे एहतियात

 

- कोराना से कैसे करें बचाव पढ़े

-केन्द्रीय विद्यालय की परीक्षाएं स्थगित

By: harisingh gurjar

Published: 19 Mar 2020, 12:01 PM IST

झालावाड़.कोराना वायरस ने चारों तरफ को-हराम मचा रखा है। हर शख्स सहमा हुआ नजर आ रहा है। जिला प्रशासन ने भी एतियातन 50 से अधिक व्यक्तियों के एक स्थान पर एकत्रित होने पर रोक लगा दी है। वहीं केन्द्रीय विद्यालय संगठन ने भी आगामी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। हालांकि जिले में कोराना का कोई मरीज सामने नहीं आया है। लोग सार्वजनिक स्थानों पर जाने से पहले मास्क व मुंह पर कपड़ा बांध कर ही जा रहे हैं, तथा बीमार व्यक्ति के पास जाने से बच रहे हैं। हाथ मिलाने की जगह हाथ जोड़कर नमस्कार कर रहे हैं,एतियात के तौर पर वायरस से सुरक्षा ही बचाव है। चिकित्सा विभाग भी सर्तक नजर आ रहा है। लेकिन कोराना का जिले में इतना कोई खतरा नहीं है, सिर्फ लोगों को बचाव करना व सावधानी रखनी है। विशेषज्ञों का कहना है कि बार-बार हाथों को धोते रहे। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर नहीं जाएं। कोई संदिग्ध व्यक्ति हो तो उसकी तुरंत जांच करवाएं। कोराना का जिले में कोई मरीज नहीं मिला है, लेकिन फिर भी लोग जरूरी होने पर ही यात्रा कर रहे हैं। बुधवार को जिले में रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड पर यात्रियों की संख्या कम नजर आई।
हालांकि जिले में कोराना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए विश्व प्रसिद्ध गागरोन जल दुर्ग व म्यूजियम में 31 मार्च तक पर्यटकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। तो खेल संकुल में संचालित जिम सहित सभी गतिविधियां बंद कर दी गई है। बाल संरक्षण के लिए होने वाली कार्यशाला भी स्थगित कर दी गई है।

बसों में किया स्प्रे-
रोडवेज बस में राजस्थान रोडवेज मुख्यालय के अनुसार सोडियम हाईड्रोक्लोराइड का छीड़काव किया गया तथा रोडवेज कार्मिकों को संक्रमण से बचाव के लिए मास्क व दस्ताने बांटे गए है। रोडवेज बसों में यात्रा करने वाले लोगों की संख्या में कोराना की वजह से आंशिक कमी हुई है।


रेलवे यात्रियों में भी आई कमी-
झालावाड़ रेलवे स्टेशन से जाने वाले यात्रियों की संख्या में भी कमी आई है। एक सप्ताह से जहां 1200 तक यात्रीभार आ रहा था। वो दो तीन दिन से कम होकर 900-1000 तक पहुंच गया है। नियमित नौकरी पेश व जरूरी काम वाले लोग की यात्रा कर रहे हैं। शेष लोग यात्रा से परहेज कर रहे हैं।

कोराना को लेकर केन्द्रीय विद्यालय की लॉकल परीक्षाए स्थगित-
झालावाड़ केन्द्रीय विद्यालय झालावाड़ में होने वाली लॉकल स्तर की सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। केन्द्रीय विद्यालय झालावाड़ के प्राचार्य जीआर मीणा ने बताया कि कक्षा 6,7,8,9 वीं व 11वीं की परीक्षाएं आगामी आदेश तक स्थगित की गई है। क्षेत्रीय कार्यालय जयपुर से आदेश आने के बाद नई तिथि की घोषणा की जाएगी।

लैब में आए सात सैंपल-
झालावाड़ मेडिकल कॉलेज में माइक्रोबॉयोलोजी लैब में बुधवार को सात सैंपल आए थे। विभागाध्यक्ष डॉ. योगेन्द्र तिवारी ने बताया कि कोटा के 5 मिनट व झालावाड़ के दो सैंपल आए थे। सभी सैंपल नगेटिव आए है।

ये बताएं उपाए-
डॉ. महेश पारीक ने बताया कि ये मौसम गिष्म ऋतु के संधि काल का समय होता है। इसमें सर्दी, जुकाम, स्वाइन फ्लू जैसे रोगों का प्रकोप रहता है। ऐसे में शिशिर ऋतु व गिष्म ऋतु के एक पखवाड़े के समय में सुबह व रात का समय सर्द रहताहै तथा दिन में गर्मी बढ़ जाती है। ऐसे में खान-पान का विशेष ध्यान रखे। बुजुर्ग सुबह पूरे कपड़े पहन कर ही निकले। ठंडा पानी व दही आदि का प्रयोग नहीं करें। तुलसी, पत्र, गिलोय, नीम, सौंप, कालीमिर्च, पिपल, हल्दी आदि का काढ़ा बनकर पीए। आयुर्वेद चिकित्सालय में इन दिनों कोराना की अफवाह के चलते सर्दी-जुकाम आदि के मरीजों की संख्या 40 से बढ़कर करीब 50-60 हो गई है।

घर-घर कर रहे जागरूक-
कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जिले में आशाओं द्वारा घर-घर भ्रमण के जागरूक कर पेम्पलेट वितरण किए जा रहे हैं। अभी तक 18268 घरों में आशाओं के द्वारा सम्पर्क कर पेम्पलेट्स का वितरण किया जा चुका है। कोरानाके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में 12 टीमें बना दी गई है। संदिग्ध व्यक्ति की सूचना कंट्रोल रूप के नंबर 07432-230009 एवं 9414751821 पर दे सकते हैं।
डॉ. साजिद खान, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, झालावाड़।

harisingh gurjar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned