52 लाख से 12 करोड़ पहुंचा बकाया

साल दर साल बढ़ रहा बिजली बिल का आंकड़ा

By: arun tripathi

Published: 29 Mar 2019, 03:24 PM IST

बकानी. सभी सरकारी विभाग लेखा जोखा तैयार करने में लगे हंै। अप्रेल से नया हिसाब बनाया जाएगा। कस्बे स्थित अधिकाश सरकारी कार्यालय के बिजली के बिल साल दर साल बढ़ते ही जा रहे हैं। लाखों रुपए से बढ़कर राशि करोड़ों में पहुंच गई है। 2017 में यह रात्रि 52 लाख रुपए थी, जो अब बढ़कर 12 करोड़ 60 लाख रुपए हो गई है।
जलदाय विभाग के 2 लाख 44 हजार रुपए, बीएसएनएल विभाग के 1 लाख 8 7 हजार रुपए, पुलिस थाने के 2 लाख 47 हजार रुपए, पुलिस क्वार्टर 2 लाख 52 हजार रुपए, सीएचसी के 7 लाख 15 हजार रुपए, सरकारी स्कुल के 4 लाख 20 हजार रुपए, बाल विकास परियोजना के 7 लाख 3 हजार रुपए, बकानी ग्राम पंचायत के 10 लाख 3 हजार रुपए, मोड़ी ग्राम पंचायत के 7 लाख 5 हजार रुपए, देवनगर ग्राम पंचायत 82 हजार रुपए बकाया है।
कस्बे के सरकारी विभागों में बिजली विभाग का 51 लाख 70 हजार रुपए, जयदाय विभाग के पिछले एक साल से 8 लाख 8 हजार, बकानी ग्राम पंचायत में रोड लाइट के 5 लाख 56 हजार, ब्लॉक की 17 ग्राम पंचायतों में 3 लाख 22 हजार रुपए, ग्राम पंचायतों में पेयजल योजना के अन्तर्गत सबसे ज्यादा 20 लाख 8 2 हजार, सीएचसी बकानी के 7 लाख 78 हजार रुपए, पुलिस विभाग पर 5 लाख 4 हजार रुपए और शिक्षा विभाग के सरकारी स्कूलों में 1 लाख 20 हजार रुपए बकाया हैं।
--सभी सरकारी कार्यालय को बकाया राशि के नोटिस जारी किए हैं। सरकारी योजना के अनुसार बकाया मार्च तक बिना पेनेल्टी के जमा करा सकता है। वहीं घरेलू कनेक्शन के बकाया बिल एक मुश्त जमा कराने पर छूट दी जा रही है।
जेपी नागर, एईएन, बकानी

इधर, बिल लेकर चक्कर लगा रहे किसान
खानपुर. कस्बे के विद्युत वितरण निगम कार्यालय में इन दिनों कई किसान और उपभोक्ता बिलों को दुरूस्त करने के लिए चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन अधिकारियों के पद रिक्त होने से बिना कामकाज के निराश लौटना पड़ रहा है। यहां कार्यरत सहायक अभियंता आरके उपाध्याय का स्थानान्तण होने के बाद उनके स्थान पर गोपालकिशन यादव को लगाया था, लेकिन उनके द्वारा यहां ज्वॉइन नहीं करने से पद रिक्त रह गया। इसी प्रकार कनिष्ठ अभियंता गणेश बंसल व नवीन खींची के स्थानान्तरण के बाद लगाए कनिष्ठ अभियंताओं ने भी ज्वॉइन नहीं किया। जबकि सहायक राजस्व अधिकारी का पद भी रिक्त है। इन दिनों राज्य सरकार द्वारा 31 मार्च तक विद्युत बिलों मे ब्याज व पैनल्टी में छूट के अलावा एमनेस्टी योजना लागू कर एकमुश्त राशि जमा करने पर उपभोक्ताओं को राहत प्रदान की जा रही है, लेकिन यहां कोई सुनने वाला नहीं है। फिलहाल यहां सहायक अभियंता का चार्ज सारोला के सहायक अभियंता पूरणमल मीणा के पास है, वे कभी कभार ही कार्यालय में आते हैं। अधिशासी अभियंता अनिल बिलोटिया ने बताया कि उन्होंने आज ही खानपुर पहुंचकर उपभोक्ताओ की समस्याओं का निराकरण किया है। साथ ही सारोला के सहायक अभियंता पूरणमल मीणा को निर्देशित कर 31 मार्च तक खानपुर आकर उपभोक्ताओं की समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश दिए हैं।

संदिग्ध अवस्था में युवक की मृत्यु
झालरापाटन. कस्बे निवासी युवक विशाल माधवानी की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु हो गई। पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम कराकर जांच शुरू की। शहर थाना प्रभारी जगदीश प्रसाद ने बताया कि शांतिनाथ मंदिर गली निवासी कपड़ा व्यवसायी विशाल माधवानी (24) रात को खाना खाकर सोया था। सुबह उसके नींद से नहीं उठने पर परिजनों ने उठाने का प्रयास किया, लेकिन किसी तरह की हरकत नहीं करने पर परिजन उसे लेकर झालावाड़ राजकीय चिकित्सालय पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने संदिग्ध मृत्यु का मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

90 दिन तक केंद्र पर होगी तुलाई
भवानीमंडी. अ-श्रेणी कृषि उपजमंडी स्थित सरकारी समर्थन मूल्य के खरीद तौल केन्द्र पर 946 क्विंटल सरसों और 34 हजार 450 क्विंटल चना तुल चुका है। वहीं अब नए टोकन कटना बंद हो गए हंै। केन्द्र प्रभारी ललीत वर्मा ने बताया कि 2928 किसानों में से 48 ने अब तक 946 क्विंटल सरसों तुलाई है, वहीं 3250 किसानों में से 151 ने 34 हजार 450 क्विंटल चना तुलाया है। प्रभारी ने बताया कि 90 दिनों तक केन्द्र पर तुलाई होगी।

सिलेंडर से कम निकल रही गैस
डग. कस्बे की नारायण एचपी गैस एजेंसी से सिलेंडरों में मात्रा से कम गैस निकलने की समस्या के चलते उपभोक्ता अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। उपभोक्ता सत्तू नाथ व रवी कलाल ने बताया कि एजेंसी से मिलने वाले सिलेंडरो में कई बार गैस कम निकलती है। गुरुवार को खरीदे सिलेंडर में गैस कम होने का अंदेशा हुआ तो तराजू पर तोला तो सील पेक सिलेंडर में 4 किलो गैस कम निकली। इधर एजेंसी प्रोप्राइटर मनीशा नागर ने बताया कि प्लांट में लम्बे समय से रखे सिलेंडरों में वाल्व में मामूली लिकेज होने से सील बंद होने के बाद भी गैस निकल कर कम हो जाती है। उपभोक्ताओं को यदि समस्या आ रही है तो वह सिलेंडर एजेंसी पर बदला सकता है।

arun tripathi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned