scriptForeign guests started coming to see the heritage of Bundelkhand | बुंदेलखंड की धरोहर निहारने को आने लगे विदेशी मेहमान, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा | Patrika News

बुंदेलखंड की धरोहर निहारने को आने लगे विदेशी मेहमान, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

कोरोना काल के कारण पिछले दो साल से विदेशी पर्यटकों को आना हो गया था बंद

झांसी

Published: November 27, 2021 08:08:24 am

झांसी. बुंदेलखंड के दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए दो साल बाद विदेशी मेहमानों का दोबारा आना शुरू हो गया है। कोरोना काल के कारण पिछले दो साल से विदेशी पर्यटकों को आना बंद हो गया था। कोरोना काल से पहले विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो, ओरछा के अलावा झांसी, बरुआसागर, देवगढ़, चंदेरी के दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए पंद्रह जुलाई से पंद्रह सितंबर तक स्पेनिश और इटेलियन ग्रुप भारत आते थे। इसी तरह अक्तूबर से फरवरी तक अमेरिकन, रसियन, ब्रिटिश, ताइवान, मैक्सिको, चाइना, जापान, कोरिया के ग्रुप आते थे।

बुंदेलखंड की धरोहर निहारने को आने लगे विदेशी मेहमान, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Foreign guests started coming to see the heritage of Bundelkhand

हर साल 20 हजार से 25 हजार विदेशी पर्यटक आते थे। यह ग्रुप पहले हवाई जहाज से नई दिल्ली आते थे और फिर आगरा घूमने के बाद शताब्दी एक्सप्रेस और गतिमान एक्सप्रेस से झांसी आते थे। इसके बाद रेलवे स्टेशन से उनको टूरिस्ट बसें दर्शनीय स्थलों पर तक ले जातीं थीं। मगर, कोरोना की आहट के साथ ही साल 2020 के शुरूआत से ही विदेशी पर्यटकों ने बुंदेलखंड में आना बंद कर दिया था। अब विदेशी मेहमानों ने दोबारा भारत में आना शुरू कर दिया है। अभी फ्री इंडीविजुअल टूरिस्ट ग्रुप (एक से पांच की संख्या में विदेशी) आ रहे हैं।

इस तरह आ रहे हैं विदेशी

अभी चार्टर्ड फ्लाइट्स से गोवा समेत देश के कई पर्यटन स्थलों पर विदेशी पर्यटकों का आना शुरू हो गया है। शुरुआत में फ्री इंडीविजुअल टूरिस्ट ग्रुप (एक से पांच की संख्या में विदेशी) आएंगे। जबकि पचास से अधिक संख्या वाले बड़े समूह को आने में अभी एक साल का वक्त और लग सकता है। बुंदेलखंड के पर्यटन उद्योग को हर साल विदेशी पर्यटकों से 50 करोड़ से अधिक का कारोबार होता था। इसमें होटल, रेस्टोरेंट, ट्रेवल्स, टूर ऑपरेटर व अन्य कारोबारी शामिल हैं।

झांसी से खजुराहो की दूरी 180 किलोमीटर

इसके साथ ही इस काम में एजेंट, गाइड, ड्राइवर समेत एक हजार लोग जुड़े थे। कोरोना काल में इनमें अधिकांश का रोजगार छिन गया था। कंपनियों ने कह रखा है कि दोबारा काम शुरू होने पर ही उनको बुलाया जाएगा। झांसी से खजुराहो की दूरी 180 किलोमीटर है। विदेशी पर्यटकों को यह दूरी बस से तय करनी पड़ती है। अभी तक इस मार्ग की सड़क छोटी होने के कारण सफर तय करने में पांच से छह घंटे लग जाते थे, लेकिन अब यह मार्ग फोरलेन हो गया है। इससे सफर तीन से चार घंटे में ही पूरा हो जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्कर'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीUP Weather News Update : ठंड ने ताेड़ा 13 साल का रिकॉर्ड, अगले तीन दिन बारिश का अलर्ट, 10 किमी की रफ्तार से चलेंगी हवाएंबड़ी खबर- सरकार ने माफ किया पुराना बिल, अब महंगी होगी बिजली
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.