माता-पिता खोने वाले बच्चों को राज्य सरकार देगी पांच लाख रुपए

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक नरेश बारोठिया ने बताया कि कोरोना के कारण जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो गई उनको इस योजना से राहत मिलेगी। इसके अलावा किसी के माता-पिता में से एक की पहले किसी भी कारण से मौत हुई हो, अब जो जीवित था उसकी भी कोरोना से मौत हो गई। उन बच्चों को भी इस योजना का पूरा लाभ मिलेगा।

By: Rajesh

Published: 12 Jun 2021, 11:08 PM IST

आओ जोड़ें टूटे खिलौने

झुंझुनूं. कोरोना के कारण अपने माता-पिता खोने वाले बच्चों को केन्द्र सरकार के बाद अब राजस्थान सरकार ने भी अनेक घोषणाएं की है। राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना शुरू की है।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक नरेश बारोठिया ने बताया कि कोरोना के कारण जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो गई उनको इस योजना से राहत मिलेगी। इसके अलावा किसी के माता-पिता में से एक की पहले किसी भी कारण से मौत हुई हो, अब जो जीवित था उसकी भी कोरोना से मौत हो गई। उन बच्चों को भी इस योजना का पूरा लाभ मिलेगा। इनके अलावा ऐसे बच्चों को केन्द्र सरकार भी दस लाख रुपए देगी।

#corona bal klyan yojna rajasthan
यह घोषणा बच्चों के लिए
-योजना के तहत ऐसे बच्चों को तत्काल एक लाख रुपए की सहायता दी जाएगी।
-बच्चों की उम्र 18 वर्ष होने तक प्रतिमाह 2500 रुपए की सहायता दी जाएगी।
-18 वर्ष पूर्ण होने पर ढाई लाख रुपए की सहायता।
-12 वीं तक निशुल्क शिक्षा आवासीय विद्यालय में।
-छात्रावासों में बालिकाओं को प्राथमिकता से प्रवेश।
-कॉलेज छात्रों के लिए अम्बेडकर डीबीटी वाउचर योजना का लाभ।
-बेरोजगारी भत्ता देने में प्राथमिकता।

#corona bal klyan yojna rajasthan

यह मिलेगा महिला को
-कोरोना में अपने पति को खोने वाली महिलाओं को एक लाख रुपए की सहायता तुरंत दी जाएगी।
-1500 रुपए प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी। इसमें उम्र व वार्षिक आय का कोई बंधन नहीं रहेगा।
-बच्चों को एक हजार रुपए की सहायता दी जाएगी।
-स्कूल की ड्रेस व पुस्तकों को वार्षिक दो हजार रुपए दिए जाएंगे।

आपके क्षेत्र में ऐसा कोई बच्चा है तो यहां करें फोन

1098


कोरोना प्रभावित परिवारों से मिले कलक्टर
झुंझुनूं.जिला कलक्टर उमरदीन खान ने शनिवार को कोरोना की वजह से अनाथ हुए बच्चों से मुलाकात की। वे झुंझुनूं शहर के सगीरा चौक, अलीपुर और बुडानिया गांव में कोरोना प्रभावित परिवारों से मिले। उन्होंने समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक नरेश बारोठिया को कोरोना पीडि़त परिवारों को राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। इस दौरान बाल अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक प्रिया चौधरी, जिला श्रम कल्याण अरुणा शर्मा, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक बिजेन्द्र सिंह राठौड़, जनसंपर्क अधिकारी हिमांशु सिंह, चाईल्ड हेल्पलाइन के जिला समन्वयक विकास राहड़ भी साथ रहे। जिला कलक्टर ने रीको स्थित कच्ची बस्ती में आंगनबाड़ी केन्द्र खोलने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned