झुंझुनूं में समिति पूछेगी बताओ कोरोना मरीज से कितने वसूले

जिला कलक्टर ने सीएचएमओ को निर्देश दिए कि वे झुंझुनूं सिटी में खांसी, बुखार, जुखाम के मरीजों में सीनियर सिटीजन, गर्भवती महिलाओं एवं अन्य बीमारियों में ग्रसित मरीजों की आगामी सात दिनों में सर्वे करवाएं।

By: Rajesh

Published: 28 Nov 2020, 09:42 PM IST

झुंझुनूं. जिले के निजी अस्पतालों में चल रहे कोरोना मरीजों के इलाज के लिए परिजनों से कितने रुपए लिए गए और क्या-क्या दवा दी गई, इसकी विशेष जांच होगी। नियमों के विरूद्ध रुपए लेने पर अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
शनिवार को सूचना केन्द्र सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में कलक्टर यूडी खान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड संक्रमित केसों पर नजर रखी जाए। मरीजों की देखभाल के लिए उनकी समस्या को दूर करवाने के लिए सरपंच की अध्यक्षता में कमेटी बनाएं। उसमें स्वास्थ्य मित्रों, नर्स, आंगनबाडी वर्कर, ग्राम सेवक, पटवारी एवं वहां के स्कूल के सीनियर अध्यापक को साथ में लें। कलक्टर खान ने कहा कि जिले में सैंपल की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए बीसीएमओ अपने क्षेत्र में एक-एक एम्बुलेंस ग्रामीण क्षेत्रों में सैंपल लेने के लिए भेजे। इसकी लगातार मॉनिटरिग करें। टीबी अस्पताल में कोविड की जांच करने के लिए लैब टैक्नीशियन लगाने के लिए संबंधित चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए।

#corona news jhunjhunu
अब हर दिन एक हजार जांच
बैठक में जिला कलक्टर खान ने कहा कि जिले में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में एक हजार सैंपल का टार्गेट रख सैंपलों की संख्या बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोविड केस बढ़ेंगे तो अधिकारी अर्लट मोड़ पर आकर कोविड केसों को रोकने के लिए रणनीति बनाकर कार्य करें। सभी चिकित्सा अधिकारी स्वयं का ध्यान रखते हुए स्टाफ का भी ध्यान रखें, जिन क्षेत्रों में कोविड केस आ रहे हैं, वहां पर संबंधित बीसीएमओ कोविड के मरीज से फोन पर बात या वीडीयो कॉल पर बात करकर उसको सलाह आवश्यक बातें बताकर दवाई के बारे में जानकारी दें।

सिटी में चलाए अभियान
जिला कलक्टर ने सीएचएमओ को निर्देश दिए कि वे झुंझुनूं सिटी में खांसी, बुखार, जुखाम के मरीजों में सीनियर सिटीजन, गर्भवती महिलाओं एवं अन्य बीमारियों में ग्रसित मरीजों की आगामी सात दिनों में सर्वे करवाएं। जिन ब्लॉक में कोविड को लेकर लापरवाही की जा रही हैं, उन अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, जिले में कोविड डैथ कंट्रोल में हो इसको लेकर रणनीति बनाकर कार्य करेंगे। सभी बीसीएमओं अर्लट मोड पर रहकर प्रत्येक ब्लॉक में कार्य करें। जिन क्षेत्रों में कोविड को लेकर कार्य धीमा चल रहा हैं, वहां कार्य को बढ़ाने के निर्देश दिए गए।
बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. छोटेलाल गुर्जर, पीएमओ डॉ. शुभकरण कालेर, डिप्टी सीएमएचओ डॉ. नरोत्तम सहित जिले के अनेक बीसीएमओ उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned