धरने में किसान नहीं आड़तिये व बिचौलिये बैठे हैं-सांसद

अगर धरने पर बैठने वाले किसान असली होते तो सबसे पहले वे यह मुद्दा उठाते कि बिजली के बिल के 870 रुपए क्यों बंद किए?

By: Rajesh

Updated: 19 Jan 2021, 11:32 PM IST


झुंझुनूं. सीकर सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने कहा कि किसानों व आमजन की सच्ची हितैषी भारतीय जनता पार्टी है। कांग्रेस नहीं चाहती कि किसानों का शोषण रुके। दिल्ली की सीमा पर धरने पर बैठने वालों में अस्सी फीसदी से ज्यादा आड़तिये और बिचौलिये हैं। राजस्थान का असली किसान एक भी धरने पर नहीं है। किसानों के नाम पर कुछ लोग राजनीति करना चाहते हैं, लेकिन किसान समझ चुके हैं। पत्रकारवार्ता में सांसद ने कहा कि जल्द ही यमुना का पानी भी झुंझुनूं को मिलेगा। कांग्रेस को जनता की नहीं खुद की कुर्सी बचाने की चिंता है। सत्ता के लिए कांग्रेस में संघर्ष चल रहा है। पड़ौसी राज्य हरियाणा में राजस्थान से दस रुपए लीटर डीजल और पेट्रोल सस्ता है, जबकि राजस्थान में तेल उत्पादन के बावजूद राज्य सरकार द्वारा ज्यादा वेट लगाने के कारण डीजल व पेट्रोल महंगा है। अगर धरने पर बैठने वाले किसान असली होते तो सबसे पहले वे यह मुद्दा उठाते कि बिजली के बिल के 870 रुपए क्यों बंद किए? झुंझुनूं सांसद नरेन्द्र खींचड़ ने कहा कि जनता राज्य सरकार से दुखी है। इसी कारण झुंझुनंू में पंचायत चुनाव में भाजपा जीती। पहली बार भाजपा की जिला प्रमुख बनी। अब नगर पालिकाओं में भी भाजपा जीतेगी। कांग्रेस के पास एक ही बात है खजाना खाली है। इस दौरान जिलाध्यक्ष पवन मावंडिया व जिला प्रवक्ता एवं नगर अध्यक्ष कमल कांत शर्मा भी मौजूद रहे।


भाजपा ने यह किया
-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर किसान को हर वर्ष छह हजार रुपए दे रहे हैं।
-भाजपा ने किसानों के बिजली बिल के हर माह 870 रुपए माफ किए।
-पड़ौसी राज्य हरियाणा में भाजपा सरकार 2100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बाजरा खरीद रही है।
-राजस्थान में भाजपा सरकार ने टोल माफ किया।


कांग्रेस ने यह किया
-टोल शुरू किया।
-किसानों को बिजली बिल में हर माह मिलने वाले 870 रुपए बंद किए।
-बाजरे की सरकारी खरीद नहीं की।
-गरीबों के लिए वरदान बनी भामाशाह योजना बंद कर दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned