scriptpure air in rajasthan | शुद्ध हवा लेनी है तो चले आओ राजस्थान | Patrika News

शुद्ध हवा लेनी है तो चले आओ राजस्थान

हरियाली बढ़ाने में तमाम प्रयासों के साथ राजस्थान पत्रिका के हरयाळो राजस्थान अभियान का भी बड़ा असर रहा है। झुंझुनूं सहित पूरे राजस्थान में पत्रिका की ओर से कई वर्षों से हरयाळो राजस्थान अभियान चलाया जा रहा है।

झुंझुनू

Published: January 13, 2022 05:28:20 pm


राजेश शर्मा
झुंझुनूं. नोएडा, पानीपत, हिसार व रोहतक सहित कई शहर जहां विश्व के सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल हो रहे हैं, वहीं एक सुकून देने वाली खबर है कि राजस्थान के कई जिलों में हरित क्षेत्र बढ़ रहा है। यहां के लोग पर्यावरण के प्रति जागरूक हो रहे हैं। हर साल पेड़ पौधे लगाने से हरियाली बढ़ रही है।
फोरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। पूरे राजस्थान में सबसे ज्यादा हरित क्षेत्र कभी सूखे माने जाने वाले बाड़मेर व जैसलमेर में बढ़ा है। बाड़मेर में 16.79 वर्ग किलोमीटर तथा जैसलमेर में 12.77 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हरियाली बढ़ी है। शेखावाटी के सीकर में 1.06 तथा झुंझुनूं जिले में 4.77 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हरियाली बढ़ी है। पूरे राजस्थान में 57.51 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हरियाली का विस्तार हुआ है। फोरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया ने सैटेलाइट के माध्यम से यह सर्वे किया है।
शुद्ध हवा लेनी है तो चले आओ राजस्थान
शुद्ध हवा लेनी है तो चले आओ राजस्थान

#pure air in rajasthan


पत्रिका के 'हरयाळो राजस्थानÓ का भी असर
हरियाली बढ़ाने में तमाम प्रयासों के साथ राजस्थान पत्रिका के हरयाळो राजस्थान अभियान का भी बड़ा असर रहा है। झुंझुनूं सहित पूरे राजस्थान में पत्रिका की ओर से कई वर्षों से हरयाळो राजस्थान अभियान चलाया जा रहा है। अभियान में अनेक संगठन हर वर्ष लाखों पौधे लगाते हैं। पत्रिका ने पिछले वर्ष खेतड़ी व झुंझुनूं शहर में परमवीर पीरू सिंह स्कूल, गुढ़ागौडज़ी सहित अनेक जगह सैकड़ों पौधे लगवाए। पीरू सिंह स्कूल में अधिकतर पौधे फलदार लगवाए गए।
#pure air in rajasthan
कहां कितना बढ़ा हरित क्षेत्र
बाड़मेर16.79
जैसलमेर12.77
अजमेर 6.11
बांसवाड़ा 7.42
भरतपुर 1.27
भीलवाड़ा 3.19
बीकानेर 8.61
डूंगरपुर 11.30
झुंझुनूं 4.77
जोधपुर 2.78
नागौर 4.04
पाली 0.85
राजसमंद 10.79
सीकर1.06
(आंकड़े वर्ग किलोमीटर में)
-----
झुंझुनूं में वन विभाग की ओर से लगाए गए पौधे
वर्ष - पौधों की संख्या
2019 - 530000
2020 327400
2021 522208
#pure air in rajasthan
यह शुभ संकेत
फोरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया की ताजा रिपोर्ट के अनुसार पूरे राजस्थान में सरकारी भूमि पर हरित क्षेत्र बढ़ा है। झुंझुनूं जिले में 4.77 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हरियाली बढ़ी है। यह अच्छा संकेत है। इसका सबसे बड़ा कारण लोगों में जागरूकता आना है। हमारा विभाग भी हर साल पौधरोपण करवा रहा है।
-आरके हुड्डा, उप वन संरक्षक झुंझुनूं
जागरूक हुए लोग
लोग जागरूक होकर पेड़ पौधे लगा रहे हैं। पिछले कुछ वर्षों में नहर का पानी आने से भी पेड़ पौधे बढ़े हैं। सरकारी विभागों के साथ सामाजिक संगठन भी बरसात के दिनों में हर वर्ष पौधे लगा रहे हैं। इसका असर है कि जिले में वन क्षेत्र बढ़ा है।
-दीपेन्द्र बुडानिया, वरिष्ठ व्याख्याता भूगोल, डाइट झुंझुनूं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमी100-100 बोरी धान लेकर पहुंचे थे 2 किसान, देखते ही कलक्टर ने तहसीलदार से कहा- जब्त करोराजस्थान में यहां JCB से मिलाया 242 क्विंटल चूरमा, 6 क्विंटल काजू बादाम किशमिश डालेShani Parvat: हाथ में मौजूद शनि पर्वत बताता है कि पैसों को लेकर कितने भाग्यशाली हैं आपफरवरी में मकर राशि में ग्रहों का महासंयोग, मेष से लेकर मीन तक इन राशियों को मिलेगा लाभNew Maruti Wagon R : अनोखे अंदाज में आ रही है आपकी फेवरेट कार, फीचर्स होंगे ख़ास और मिलेगा 32Km का माइलेज़2 बच्चों के पिता और 47 साल के मर्द पर फ़िदा है ‘पुष्पा’ की 25 साल की एक्ट्रेस, जाने कौन है वो

बड़ी खबरें

Jammu Kashmir: अनंतनाग के हसनपोरा में आतंकी हमला, पुलिस हेड कांस्टेबल अली मोहम्मद शहीदभरोसा बनाए रखें, प्रिंट मीडिया को कोई खतरा नहींः प्रो. संजय द्विवेदीहम 'जनमन' की बात करते हैं और वे 'गन' की : स्वतंत्र देव सिंहUP Assembly Elections 2022: राजा भैया के खिलाफ कुंडा से समाजवादी के बाद बीजेपी ने घोषित की प्रत्याशी, जाने कौन है सिंधुजा मिश्रा जो राजा को देगी टक्करमहिला आयोग के नोटिस के बाद झुका SBI, विवादित सर्कुलर लिया वापसBeating the Retreat: गणतंत्र दिवस समारोह के समापन पर विजय चौक पर भव्य शो, 300 साल पुरानी है 'बीटिंग द रिट्रीट' परंपराभाजपा MLA की ‘जाति’ पर सवाल,हाईकोर्ट ने कहा- 90 दिन में सरकार करे समाधानराजनीतिक संरक्षण में हुआ है रीट परीक्षा का पेपर आउट,मंत्रिमंडल तक जुड़े हैं तार-राठौड़
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.