अवैध खनन कराने के लिए मां की हत्या में शामिल हो गया बेटा

खेत में उसका एक बेटा रतन लाल सैनी बजरी का अवैध खनन करवाना चाहता था। अवैध खनन का उसकी मां, पिता व दूसरा भाई विरोध कर रहे थे। इस पर वह चंद रुपयों के लालच में अवैध खनन करने वालों से मिल गया। अवैध खनन करने वालों को वह खेत पर ले आया। इसका परिवार के अन्य सदस्यों ने विरोध किया तो आरोपियों ने मिलकर सोनी देवी के जीप से टक्कर मारी। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई।

By: Jitendra

Published: 15 Jun 2021, 11:32 AM IST

झुंझुनूं. कांकरिया गांव में अवैध खनन करने का विरोध करने वाली सोनी देवी (60)की हत्या करने में उसका सगा बेटा भी शामिल था। वह चंद रुपयों के लालच में खनन करने वालों के साथ मिला हुआ था। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए सोमवार रात बेटे सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। थानाधिकारी सुरेन्द्र सिंह देगड़ा ने बताया कि कांकरिया निवासी सोनी देवी का खुद का खातेदारी का खेत है। इस खेत में उसका एक बेटा रतन लाल सैनी बजरी का अवैध खनन करवाना चाहता था। अवैध खनन का उसकी मां, पिता व दूसरा भाई विरोध कर रहे थे। इस पर वह चंद रुपयों के लालच में अवैध खनन करने वालों से मिल गया। अवैध खनन करने वालों को वह खेत पर ले आया। इसका परिवार के अन्य सदस्यों ने विरोध किया तो आरोपियों ने मिलकर सोनी देवी के जीप से टक्कर मारी। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। पुलिस ने सोनी देवी के बेटे रतन लाल सैनी,रतनलाल गुर्जर व बलराम सैनी को गिरफ्तार किया है। तीनों कांकरिया के हैं।


यह था मामला
थाने में 11 जून को कांकरिया निवासी सोनी देवी के दूसरे बेटे सुरेश कुमार पुत्र मुखाराम ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि सुबह दो जीपों में भरकर कांकरिया निवासी मुकेश गुर्जर, रतन गुर्जर, हरीराम, सुरेश गुर्जर, गोपीराम गुर्जर, धोलुराम गुर्जर व बलराम सैनी आए। इनके हाथों में लाठी सरिया थे। आते ही बलराम सैनी ने पिस्टल से दो फायर किए व उन्हें जीपों में डालकर ले गए। राजपूतों की छतरी के पास में मां को गाड़ी से नीचे डालकर उससे सरियों से मारपीट की तथा जीप से कुचल दिया। जिससे मां सोनी देवी की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद भाई शंकरलाल व पिता मुखाराम जीप से कूद कर भागे तो गाड़ी से पीछा कर पिताजी को लाठी, सरियों से मारपीट की तथा मेरी लाठियों से पिटाई की। इस मामले की तफ्तीश अनुसंधान सेल झुंझुनूं के उपअधीक्षक आनंद राव को सौंपी गई। पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी ने गम्भीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार मीणा व उपअधीक्षक विजय कुमार के निर्देशन में थानाधिकारी सुरेन्द्र सिंह देगड़ा के नेतृत्व में आरोपियों की तलाश के लिए विशेष टीम का गठन किया गया। टीम ने सोमवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में थानाधिकारी सुरेन्द्र सिंह देगड़ा, कांस्टेबल दिनेश कुमार, पंकज कुमार, अभिषेक ढाका, संदीप कुमार, दिनेश कुमार व अशोक शामिल थे।

शेष आरोपियों को पकडऩे की मांग
सोनी देवी हत्याकाण्ड के शेष आरोपियों को गिरफ्तार करने तथा इस अवैध खनन में काम में ली गई जेसीबी मशीनों को जब्त करने की मांग को लेकर सोमवार शाम ग्रामीणों ने कांकरिया बस स्टेण्ड पर प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में पूर्व सरपंच बनवारीलाल गुर्जर, बनवारीलाल सैनी, नरेश कांकरिया, रामनिवास सैनी, जीवराज सैनी,बलजी झाकरिया, अजयसिंह, मनोहरलाल सैनी, लक्ष्मणराम, सांवरमल, सुभाष जांगिड़, बंशीलाल सैनी, सतीश कुमार, बालकिशन सहित दर्जनों ग्रामीण शामिल थे। इसी तरह उपखण्ड अधिकारी राजपाल यादव को लीलाधर सैनी, पार्षद राहुल सैनी, स्वामी विवेकानंद राजकीय महाविद्यालय के छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष निरंजनलाल सैनी, वार्ड पार्षद गोकुल मेहरड़ा, हरमेन्द्र चनानिया, विजेश सैनी व संजय सैनी ने ज्ञापन देकर शेष आरोपियों की गिरफ्तारी व पीडि़त परिवार को 30 लाख रुपए मुआवजा व एक व्यक्ति को नौकरी दी जाए।

Jitendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned