करंट से दो भैंस मरने पर इतने आक्रोशित हुए ग्रामीण की बुलानी पड़ी पुलिस

आक्रोशित ग्रामीणों को देखते हुए प्रशासन को पुलिस जाब्ता बुलाना पड़ा। सीओ सिटी लोकेंद्र दादरवाल, कोतवाल मदनलाल कड़वासरा व सदर थानाधिकारी गोपालसिंह ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए कलक्ट्रेट परिसर का गेट बंद करना पड़ा।

By: Jitendra

Updated: 06 Apr 2021, 10:14 AM IST

झुंझुनूं. भूरासर गांव की चारागाह भूमि में बने जलदाय विभाग के कुएं पर पानी पीने के लिए गई तीन भैंसों की करंट लगने से दो की मौत व एक के घायल हो जाने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन कर मुआवजे की मांग की। आक्रोशित ग्रामीणों को देखते हुए प्रशासन को पुलिस जाब्ता बुलाना पड़ा। सीओ सिटी लोकेंद्र दादरवाल, कोतवाल मदनलाल कड़वासरा व सदर थानाधिकारी गोपालसिंह ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए कलक्ट्रेट परिसर का गेट बंद करना पड़ा। ग्रामीणों ने बताया कि भूरासर गांव की चारागाह भूमि में जलदाय विभाग के कुएं बने हुए हैं। जिसकी पेयजल सप्लाई लाइन जगह-जगह से लीकेज होने के कारण पानी व्यर्थ बहता रहता है और यहां पर लगे ट्रांसफार्मरों में करंट दौड़ता रहता है। इस चारागाह भूमि में रोजाना सैंकड़ों की संख्या में पशु चरते रहते हैं। यहां पर तीन भैंस चर रही थी और कुएं के पास व्यर्थ बहते पानी में पानी पीने लगी। इसी दौरान पानी में करंट दौडऩे से दो की मौत हो गई, जबकि एक झूलस गई। जलदाय व बिजली विभाग के अधिकारियों को बार-बार सूचना देने के बाद भी कोई अधिकारी-कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा। इस पर आक्रोशित ग्रामीण मुआवजे की मांग को लेकर बड़ी संख्या में कलक्ट्रेट के सामने पहुंच गए और मुआवजे की मांग करने लगे। मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों की समझाइश और मुआवजे के आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत होकर गांव लौटे।

Jitendra Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned