RPSC: युवाओं के लिए बुरी खबर, सरकार ने लगाई भर्तियों पर रोक

RPSC: युवाओं के लिए बुरी खबर, सरकार ने लगाई भर्तियों पर रोक

Sunil Sharma | Publish: Mar, 12 2019 11:55:31 AM (IST) जॉब्स

प्रदेश में चल रही विभिन्न भर्तियों में नियुक्ति प्रक्रिया पर एक बार फिर से ब्रेक लग गया है। तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती लेवल-2 के दस दिन पहले ही परिणाम जारी किए गए थे।

लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने से प्रदेश में चल रही विभिन्न भर्तियों में नियुक्ति प्रक्रिया पर एक बार फिर से ब्रेक लग गया है। तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती लेवल-2 के दस दिन पहले ही परिणाम जारी किए गए थे। रि-शफल परिणाम के बाद सभी जिलों में काउंसलिंग व नियुक्ति प्रक्रिया चल रही थी। इसे भी शिक्षा निदेशालय ने पत्र जारी कर रोक दिया है।

उल्लेखनीय है कि कुल 5681 पदों के लिए जारी रि-शफल व वेटिंग परिणाम जारी किया गया है। इसमें 3532 पदों पर रि-शफल और 2149 वेटिंग शिक्षकों का परिणाम जारी किया गया था। जिलों में अब काउंसलिंग कर स्कूल तो आवंटित किए जाएंगे परन्तु अभी उन्हें नियुक्ति नहीं दी जाएगी। नियुक्ति के संबंध में शिक्षा विभाग ने आगे की कार्यवाही के लिए भर्ती संबंधी फाइल निर्वाचन आयोग को भेजी है।

अन्य परीक्षाओं के परिणाम भी आए
इसी प्रकार सूचना सहायक भर्ती परीक्षा का परिणाम भी जारी किया जा चुका है। इसी प्रकार एलडीसी भर्ती परीक्षा का पहले भाग का परिणाम भी आ चुका है। ऐसी ही अन्य भर्तियों में भी नियुक्ति बना आयोग की अनुमति के नहीं दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि इसी प्रकार मध्यप्रदेश में भी देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के लिए चल रही 200 कांट्रेक्ट फैकल्टी (संविदा शिक्षकों) की भर्ती चुनाव आचार संहिता लग जाने के लिए अटक गई थी। पहले भी कई बार विवादों में उलझ चुकी भर्ती प्रक्रिया को लोकसभा चुनावों के कारण दूसरी बार स्थगित किया गया है। इससे यूनिवर्सिटी को वर्ल्ड बैंक से मिलने वाली ग्रांट भी अटकने की संभावनाएं बन गई हैं। यूनिवर्सिटी में भी इंटरव्यू चल रहे थे जिन्हें रोक कर आगे की कार्यवाही के लिए चुनाव आयोग से सलाह मांगी गई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned