Kartik Purnima देव दिवाली पर जलाशयों में होगा दीपदान

जोधपुर. कार्तिक पूर्णिमा ( Kartik Purnima ) पर मंगलवार को देव दिवाली ( Dev Diwali ) श्रद्धा से मनाई जाएगी। इस मौके तीर्थ स्थलों पर पवित्र स्नान और दीपदान का विशेष महत्व होने के कारण पवित्र जलाशयों पर दीपदान किया जाएगा, जिसमें दीपदान कर लेंगे जलाशयों ( water bodies ) के संरक्षण का संकल्प लया जाएगा। इसमें राजस्थान पत्रिका ( rajasthan patrika ) भी सामाजिक सरोकार ( Social concern ) निभाएगा।

 

MI Zahir

11 Nov 2019, 09:00 PM IST

जोधपुर. कार्तिक पूर्णिमा ( kartik purnima ) पर मंगलवार को ( Dev Diwali ) श्रद्धा से मनाई जाएगी। इस दिन तीर्थ स्थलों पर पवित्र स्नान और दीपदान का विशेष महात्म्य होने के कारण पवित्र जलाशयों ( water bodies )पर दीपदान किए जाएंगे। राजस्थान पत्रिका की ओर से 'अमृतं जलम ' ( amritam jalam ) अभियान और सामाजिक सरोकार ( Social concern ) कार्यक्रम के तहत विभिन्न सामाजिक, धार्मिक व स्वयंसेवी संस्थाओं व क्षेत्रवासियों के सहयोग से शहर के प्रमुख जलाशयों के मेहराबदार घाटों पर दीपदान किया जाएगा। प्रभु प्रेमी संघ जोधपुर ( jodhpur news.current news ) की ओर से जूना पीठाधीश्वर अवधेशानंद का जन्म दिवस मंगलवार को प्रकाशोत्सव के रूप में मनाया जाएगा। सिवांचीगेट स्थित शिवदत्त स्मारक परिसर में शाम साढ़े पांच बजे भक्ति संध्या होगी। संघ के महेश जाजड़ा और मनीष अग्रवाल ने बताया कि शाम 5.30 बजे राजस्थान पत्रिका और संघ सदस्यों की ओर से पांच हजार एक दीप प्रज्ज्वलित कर जलाशयों की स्वच्छता का संकल्प लिया जाएगा। राजस्थान पत्रिका, चैनेश्वर श्रीमद्भागवत सेवा समिति व चांद बावड़ी क्षेत्र समिति की साझा मेजबानी में परकोटे के प्राचीन जलाशय चांद बावड़ी व जैता बेरा आदि जलाशयों में कार्तिक पूर्णिमा को दीपदान कर पर्यावरण व जलाशय संरक्षण का संकल्प लिया जाएगा। समिति संयोजक अरुणकुमार जोशी ने बताया कि शाम 5 बजे से क्षेत्रवासी घरों से दीपक लाकर जलाशय परिसर में दीपमाला सजाएंगे।

उधर दईजर लाछा बासनी स्थित संवित् धाम आश्रम परिसर में 5001 दीपक प्रज्जवलित कर भगवान योगेश्वर श्रीकृष्ण मन्दिर में 151 व्यजंनों का अन्नकूट का भोग लगाया जाएगा। स्ंवित् साधनायन सचिव भरत जोशी ने बताया कि आश्रम के मुख्य गिरि राजेश्वरी मन्दिर, पंचदेव मन्दिर, ज्ञानेश्वर हनुमान मन्दिर, नवगृह मन्दिर, गुरु प्रांगण, विरजा व द्वादश ज्योतिर्लिंग वन सहित पूरे आश्रम परिसर में दीपमाला सजाई जाएगी। वहीं अबूझ सावे के रूप में मान्य दिवस पर तुलसी विवाह की भी धूम रहेगी। दीपावली के दूसरे दिन से शुरू हुए अन्नकूट महोत्सव, पिछले एक माह से चले रहे कार्तिक स्नान और देव प्रबोधिनी एकादशी से शुरू हुए भीष्म पंचक व्रत का भी मंगलवार को पारणा किया जाएगा।

Show More
M I Zahir Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned