संविदाकर्मियों के खातों में जमा करवाएं न्यूनतम मजदूरी

संविदाकर्मियों के खातों में जमा करवाएं न्यूनतम मजदूरी

Yamuna Shankar Soni | Updated: 08 Aug 2019, 10:48:42 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को संविदकर्मियों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान सीधे उनके ही खातों में हस्तांतरित करने का मैकेनिज्म लागू करने को कहा है।

जोधपुर(jodhpur).

राजस्थान हाईकोर्ट (rajasthan highcourt) ने राज्य सरकार (state govt. of rajasthan) को संविदकर्मियों (Contract workers) को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान (Payment of minimum wage) सीधे उनके ही खातों में हस्तांतरित करने का मैकेनिज्म (Transfer mechanism) लागू करने को कहा है।

मुख्य न्यायाधीश एस.रविंद्र भट्ट (CJ of Rajasthan highcourt) और न्यायाधीश विनितकुमार माथुर की खंडपीठ ने राज्य सरकार की ओर से दायर एक अपील का निस्तारण करते हुए यह आदेश दिए।

दरअसल, राज्य सरकार ने गत 31 जुलाई को एक आदेश जारी कर कहा था कि संविदाकर्मियों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान सीधे न करते हुए ठेकेदार के माध्यम से किया जाए।

सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से यह कहा गया कि ऐसा मॉनिटरिंग मैकेनिज्म विकसित किया जाएगा, जो संविदाकर्मियों को वास्तविक भुगतान होना सुनिश्चित करेगा।

अप्रार्थीगण की ओर से अधिवक्ता गजेन्द्रसिंह बुटाटी ने कहा कि राज्य को संविदाकर्मी और राज्य के बीच सीधा अनुबंध सुनिश्चित करना चाहिए।

खंडपीठ ने दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद कहा कि राज्य सरकार को संविदाकर्मियों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान सीधे उनके ही खातों में करने का मैकेनिज्म विकसित करना चाहिए, इस संबंध में जरूरी सूचनाएं ठेकेदार से प्राप्त की जा सकती है।

यह ठेकेदार व संविदाकर्मी के रिश्ते को प्रभावित नहीं करेगा।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned