सरकारी स्कूलों के स्टूडेन्ट्स सीखेंगे बॉक्सिंग, लगाएंगे राइफल से निशाना

सरकारी स्कूलों के स्टूडेन्ट्स सीखेंगे बॉक्सिंग, लगाएंगे राइफल से निशाना

Amit Dave | Updated: 02 Aug 2019, 08:46:47 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

- शिक्षा विभाग में जुड़ सकते हैं 12 नए खेल
- स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया में 133 खेल है


जोधपुर।
स्कूली कैलेण्डर में नाममात्र के खेल होने के कारण प्रदेश की हजारों खेल प्रतिभाएं अन्य खेलों में प्रदर्शन से वंचित रह जाती है। स्कूली खेल कैलेण्डर में खेलों की कमी दूर करने व अन्य खेलों की प्रतिभाओं को मौका देने के लिए स्कूली शिक्षा में 12 नए खेल जुड़ सकते है। शिक्षा विभाग ने नए जुडऩे वाले 12 खेलों के लिए प्रदेश भर के जिला शिक्षाधिकारियों माध्यमिक मुख्यालय से 15 दिनों के अंदर प्रस्ताव व रिपोर्ट मांगी है। स्कूल गेम्स फैडरेशन ऑफ इंडिया (एसजीएफ आइ) द्वारा 133 खेलों का आयोजन कराया जाता है। यह विडंबना है कि राजस्थान स्कूली खेलों में मात्र 18 खेलों की प्रतियोगिताएं कराई जाती है। इस कारण राजस्थान के खिलाडि़यों को नुकसान हो रहा है और हजारों स्कूली विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तर पर पहुंच ही नहीं पाते है।
--
यह खेल जुड़ सकते है
बॉक्सिंग, राइफल शूटिंग, सेपक टकरा, रोलबॉल, साइक्लिंग, यूनीफाइट, रोलर स्केटिंग, महिला कुश्ती, स्पीडबॉल, कूडो, टेनिस बॉल क्रिकेट। अगर इन खेलों को राज्य खेल में जोड़ा जाता है तो राज्य के हजारों खिलाडि़यों को जिला राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर खेलने का मौका मिलेगा।
----
यह जानकारी भेजनी होगी
- संबंधित खेल का प्रचलन कितने विद्यालयों में है
- संबंधित खेल के जानकर प्रशिक्षक शारीरिक शिक्षकों की सूची
- संबंधित खेल विद्यार्थियों के शारीरिक-मानसिक विकास में कितना सहायक है
- संबंधित खेल का आयोजन कराने में होने वाला व्यय
इन बिंदुओं के आधार पर इन 12 खेलों को राजस्थान स्कूली खेलों में जोड़ा जाएगा।
--
पूर्व में प्रस्ताव मांगे, रिपोर्ट ही नहीं भेजी गई
पूर्व में भी राजस्थान शारीरिक शिक्षक संघ की ओर से राज्य में प्रचलित खेलों को शिक्षा विभाग के खेलों में जोडऩे का ज्ञापन दिया जाता रहा है। शिक्षा निदेशालय की ओर से 5 जुलाई 2016 व 28 नवंबर 2017 को उक्त खेलों के प्रस्ताव प्रदेश के सभी जिला शिक्षाधिकारियों से मांगे गए । शिक्षाधिकारियों द्वारा सही सूचनाएं नही भेजे जाने के कारण ये खेल शिक्षा विभाग में नहीं जोड़े जा सके।
--
महिला खेल कम होना विडंबना

भारत की महिलाएं विदेशों में जिन खेलों में मेडल ला रही है। वह खेल राज्य में स्कूली खेलों में शामिल ही नहीं है। महिला कुश्ती, बॉक्सिंग, मलखंब, महिला फु टबॉल खेलों के आयोजन में ज्यादा खर्चा भी नहीं आता। फि र भी स्कूली शिक्षा में यह खेल नहीं होना विडंबना है
--
19 जून को विभाग के निदेशक से नए १२ खेलों को शिक्षा विभागीय खेलों में जोडऩे की मांग की गई थी। इस पर निदेशक ने कार्यवाही करते हुए उक्त खेलों को जोडऩे के प्रस्ताव सभी जिला शिक्षाधिकारियों माध्यमिक शिक्षा से मांगे है।
हापूराम चौधरी, प्रदेशाध्यक्ष
राजस्थान शारीरिक शिक्षक संघ
--
स्कूली शिक्षा में नए जोड़े जाने वाले 12 खेलों के प्रस्ताव व रिपोर्ट मांगी गई है। उनकी रिपोर्ट के आधार पर नए खेल जोडऩे का निर्णय लिया जाएगा।
नथमल डिडेल, निदेशक
माध्यमिक शिक्षा, बीकानेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned