चौदह साल से पैरोल से फरार इनामी बंदी गिरफ्तार

- गांव, नाम व हुलिया बदलकर जंगलों में रह रहा था, तलाश के बाद दबोचा

By: Vikas Choudhary

Updated: 09 May 2021, 06:17 PM IST

जोधपुर.
जोधपुर सेन्ट्रल जेल से चौदह साल पूर्व पैरोल से फरार होने वाले इनामी बंदी को क्राइम विशेष टीम (सीएसटी) ने नागौर जिले के जंगलों से पकड़कर उदयमंदिर थाना पुलिस को सुपुर्द किया।
पुलिस उपायुक्त (पूर्व) धर्मेन्द्रसिंह यादव ने बताया कि सीकर में दांतारामगढ़ थानान्तर्गत ठेहठ गांव निवासी पप्पु उर्फ किशन बावरिया पड़ोसी की हत्या के मामले में जेल में बंद था। चौदह वर्ष पहले उसे पैरोल पर छोड़ा गया था। जो जेल नहीं लौटा। वर्ष २००७ में उसके खिलाफ उदयमंदिर थाने में फरार होने का मामला दर्ज कराया गया था। तलाश के बावजूद पकड़ में न आने पर उसके खिलाफ इनाम भी घोषित किया गया था। डीसीपी (क्राइम) राजकुमारसिंह के निर्देशन में सीएसटी के कांस्टेबल इमरान खान व थानाराम को तलाश में उसके गांव भेजा गया। जांच के दौरान पता लगा कि उसने गांव छोड़ दिया है। वह नाम व हुलिया बदलकर नागौर जिले में लाडनूं में थानान्तर्गत मलासी गांव के आस पास के जंगलों में छुपकर रह रहा है। सीएसटी की सूचना पर पुलिस चौकी निंबी जोधा के कांस्टेबल धर्मेन्द्र की मदद से तलाश के बाद शनिवार को पप्पु उर्फ किशन बावरिया को पकड़ा गया। जोधपुर से सीएसटी निंबी जोधा चौकी पहुंची और पप्पु को पकड़कर जोधपुर लाई। उदयमंदिर थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned