अतीत के आइने में जोधपुर: चौपासनी स्कूल

पार्ट-2

By: Nandkishor Sharma

Published: 28 Oct 2020, 11:01 PM IST

नंदकिशोर सारस्वत

जोधपुर. चौपासनी विद्यालय भवन चौपासनी क्षेत्र में स्थित विद्यालय का निर्माण सन 1912 से 1914 के बीच महाराजा सर प्रतापसिंह ने करवाया था । भवन निर्माण पर तब कुल 4 लाख 34 हजार 907 रुपये राज्य के खर्च हुए । मुख्य इमारत के साथ अलग विद्यार्थियों के छात्रावास भी बनाए गए। स्वीमिंग पूल , हॉस्पिटल और मन्दिर का निर्माण भी करवाया गया । स्कूल के प्रांगण में देवी का मन्दिर महाराजा उम्मेदसिंह ने बनवाया । यह स्कूल श्री राजपूत स्कूल चौपासनी के नाम से बनी थी । इसका उदघाटन तत्कालीन वॉयसराय लार्ड और लेडी हार्डिग ने 8 फरवरी 1914 के दिन महाराजा सुमेरसिंह और महाराजा सर प्रतापसिंह की उपस्थिति में किया गया था । वर्तमान में यह चौपासनी स्कूल के नाम से जानी जाती है । विद्यालय ने अद्वितीय सैनिक, खिलाड़ी, राजनेता, विद्वान, वैज्ञानिक और समाजसेवी देश को दिए है। स्कूल की देखरेख चौपासनी शिक्षा समिति करती है जिसके मुख्य संरक्षक पूर्व सांसद गजसिंह हैं । खुबसूरत भवन का नक्शा प्रसिद्ध वास्तुकार ओ . ब्राईन ने बनाया तथा इंजीनियर सेल्टन की देखरेख में चौपासनी स्कूल का भवन बना । चौपासनी विद्यालय भवन एवं विद्यालय का 50 वां वार्षिकोत्सव 1975 ई . को चौपासनी शिक्षा समिति के नेतृत्व में मनाया गया । चौपासनी विद्यालय के गौरवमय सौ वर्ष पूर्ण करने पर 14-15 अक्टूबर 2014 को भव्य शताब्दी समारोह में केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल हुए थे।

Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned