एम्स में लिथोट्रिप्सी सूट शुरू, मरीजो को नहीं करनी पड़ेगी दूर की यात्रा

छोटी पथरी के इलाज में होगी सुविधा

By: Jay Kumar

Published: 22 Jan 2021, 06:59 PM IST

जोधपुर. एम्स जोधपुर में लिथोट्रिप्सी सूट की शुरुआत कर दी गई है। इससे अब छोटी पथरी के इलाज में सुविधा होगी। एम्स डायरेक्टर डॉ. संजीव मिश्रा ने बताया कि अस्पताल के लिथोट्रिप्सी यूरोलॉजी विभाग के तहत कार्यात्मक होगी। इस सुइट में एक डॉर्नियर डेल्टा कॉम्पैक्ट मशीन स्थापित है जो दुनिया में लिथोट्रिप्सी के लिए सबसे शक्तिशाली और कुशल मशीन है। लिथोट्रिप्सी को एक्सट्रॉकोर्पोरियल शॉक वेव के रूप में भी जाना जाता है। लिथोट्रिप्सी एक उपचार पद्धति है जिसके द्वारा गुर्दे की पथरी वाले रोगियों को सर्जरी या अस्पताल में प्रवेश की आवश्यकता से बचने के लिए शॉक वेव देकर इलाज किया जा सकता है। एम्स जोधपुर अब गुर्दे की पथरी के सभी शिष्टाचार से निपटने के लिए पूरी तरह से सुसज्जित है। सहआचार्य डॉ गौतम राम चौधरी ने बताया कि इस मशीन से छोटी पथरी के इलाज में बहुत मदद मिलेगी। सहआचार्य डॉ. हिमांशु पाण्डे ने मशीन आगमन पर खुशी जताई। अब किसी भी मरीज को लिथोट्रिप्सी करवाने के लिए शहरों के दूर की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी।

Show More
Jay Kumar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned