पहले जहरीला पदार्थ डाल कोल्ड ड्रिंक पिलाया, फिर गला घोंट कर दी हत्या

पहले जहरीला पदार्थ डाल कोल्ड ड्रिंक पिलाया, फिर गला घोंट कर दी हत्या
फलोदी. गिरफ्तार हत्या आरोपी

Narayan Soni | Publish: May, 20 2019 07:15:19 PM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
फलोदी. उपखण्ड के बावड़ी कलां से लापता हुए युवक का १३ दिन बाद राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल की पाइप लाइन के पास कंकाल मिला तो हरकोई सहम गया। मामला कुछ इस तरह कि युवक के लापता होने के बाद पुलिस ने गुजरात से एक संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो हत्या का मामला सामने आया। गिरफ्तार युवक की निशानदेही पर पुलिस मौके पर पंहुची तो मौके पर शव की जगह सिर्फ कंकाल ही मिला। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाने के लिए कंकाल को एमडीएम अस्पताल भेजा है।

पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण राहुल बारहट ने बताया कि बावड़ी कलां गांव से गत 7 मई को गायब हुए भूपतसिंह पुत्र शैतानसिंह राजपुरोहित की 10 मई को गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज हुई थी। उसके बाद 20 मई को डूंगरसिंह पुत्र दीनदयालसिंह राजपुरोहित ने रिपोर्ट पेश कर बताया था कि सराना थाना पचपदरा निवासी सुरेशसिंह उर्फ सुजानसिंह पुत्र नारायण सिंह राजपुरोहित ने ही भूपतसिंह का अपहरण किया है तथा कहीं छिपाकर रखा है। जिस पर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया तथा एएसपी जस्साराम बोस के निर्देशन में गहन अनुसंधान के निर्देश दिए गए। मामले में डीएसपी पारस सोनी व थानाधिकारी राजीव भादू ने गहन अनुसंधान करते हुए तकनीकी सूचनाओं के आधार पर संदिग्ध सुरेशसिंह की तलाश के लिए एएसआई शैतानाराम व कांस्टेबल रमेश को सूरत भेजा तथा सूरत से सुरेशसिंह को दस्तयाब किया गया। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में सुरेशसिंह ने 7 मई को भूपतसिंह का अपहरण करके जान से मारकर लाश छिपा देना कबूल किया तथा सुरेशसिंह पर अपराध प्रमाणित पाए जाने पर गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर मोहरां रोड़ पर राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल के पास एक गड्ढे से मानव कंकाल बरामद किया। पुलिस ने बताया कि वारदात में अन्य आरोपियों के बारे में पूछताछ की जाएगी। पुलिस अधीक्षक ने प्रकरण का खुलासा करने पर थानाधिकारी राजीव भादू, एएसआई शैतानाराम पंवार, हैड कांस्टेबल दमाराम व कांस्टेबल रमेश को सम्मानित करने की घोषणा की है।
यूं दिया वारदात को अंजाम-
पुलिस के अनुसार मृतक भूपतसिंह का विवाह अजियाना तहसील सिवाना जिला बाड़मेर निवासी जोरसिंह पुत्र भंवरसिंह की बेटी से किया हुआ है तथा जोरसिंह के छोटे भाई जेठूसिंह का विवाह भूपतसिंह की बहन से किया हुआ है। ये दोनों विवाह दो वर्ष पूर्व हुए थे। विवाह के समय सुरेशङ्क्षसह ने जोरसिंह की बेटी व अपनी ममेरी बहन को नाबालिग बताकर विवाह की शिकायत की थी। भूपतङ्क्षसह स्वभाव से भोला था। जिसके चलते ससुराल वाले अपनी बेटी को पढ़ी-लिखी होना बताकर भूपतसिंह के पास नहीं भेज रहे थे। सुरेशसिंह ने इस रिश्ते को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए भूपतसिंह को धोखे से फलोदी बुलाया तथा कोल्ड डिं्रक में जहरीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया तथा बेहोश होने पर कपड़े से गला घोंटकर भूपतसिंह की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव कैनाल की पाइप लाइन के पास गड्ढे में फेंक दिया।
ढूंढने गए थे शव, मिला कंकाल-
जब पुलिस ने आरोपी सुरेशसिंह से भूपतसिंह के शव के बारे में पूछताछ की तो पुलिस शव ढूंढने के लिए पाइप लाइन के पास पंहुची तो वहां सिर्फ कंकाल ही मिला तथा कंकाल के ऊपर पहने हुए कपड़े व पर्स के आधार पर परिजनों ने कंकाल की पहचान की। (कासं)
--------------

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned