पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी आग, लगातार कट रही जेब से अनजान मासूम जनता, यूं कंपनियां काट रही चांदी

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी आग, लगातार कट रही जेब से अनजान मासूम जनता, यूं कंपनियां काट रही चांदी

By: Gajendrasingh Dahiya

Published: 18 Aug 2017, 01:16 PM IST

डेढ़ महीने में पेट्रोल 5.60 और डीजल 4.22 रुपए महंगा जोधपुर। पिछले डेढ़ महीने में पेट्रोल 5.60 रुपए और डीजल 4.22 रुपए महंगा हो गया है लेकिन जनता को पता भी नहीं चला। एक से लेकर 17 अगस्त तक तेल के दाम प्रतिदिन 10 से 15 पैसे बढ़ रहे हैं और जनता की जेब लगातार कटती जा रही है। जोधपुर में गुरुवार को पेट्रोल 70.71 रुपए और डीजल 61.29 रुपए पर पहुंच गया। इसके उलट अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम लगातार गिर रहे हैं। एक जुलाई को क्रूड ऑयल की कीमत 50.17 डॉलर प्रति बैरल थी जो शुक्रवार को 46.59 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई, बावजूद इसके तेल कम्पनियां अपनी चांदी काट रही है।

 

केंद्र सरकार ने 16 जून से पेट्रोल पम्पों पर पेट्रोल-डीजल के दैनिक मूल्य निर्धारण की व्यवस्था लागू की थी। पहले दस दिन तो तेल के दाम लगातार गिरे। पेट्रोल-डीजल सस्ता होने से जहां जनता को आराम मिला वहीं पेट्रोल पंप संचालकों को घाटा होने से उन्होंने हड़ताल की धमकी दे डाली लेकिन एक जुलाई से परिस्थितियां बदल गई। पिछले एक महीने से तेल के दाम लगातार ऊपर ही चढ़ रहे हैं। पिछले एक महीने से तेल के दाम लगातार ऊपर ही चढ़ रहे हैं। हर रोज कुछ पैसे बढऩे से जनता को पता नहीं चलता और वह चुपचाप पेट्रोल पंपों पर जाकर अपनी गाड़ी में ईंधन भरवा लेती है जबकि इससे पहले एक-एक पखवाड़े से तेल के दामों की समीक्षा होती थी। अगर एक साथ 3 से 5 रुपए बढ़ जाते तो पेट्रोल पंपों पर लाइनें लग जाती और राजनीतिक पार्टियां सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल देती। केंद्र सरकार की योजना की सुझबूझ ने जनता को ही ठग लिया है। आपको बता दें अगस्त में हर रोज दाम बढ़ रहे हैं, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दाम गिर रहे हैं। कंपनियां आपकी जेब काट कर खुद मुनाफा कमा रही हैं और आप अनजान बैठे बस लुट रहे हैं।

Show More
Gajendrasingh Dahiya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned