टीचर पार्टी में थे मस्त, तभी स्कूल से निकलकर नहाने गए दो बच्चों की तालाब में डूबने से मौत

स्कूल से निकलकर नहाने गए दो बच्चों की तालाब में डूबने से मौत

By: Deepak Sahu

Published: 20 Jul 2018, 12:13 PM IST

कांकेर. छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में स्कूल शिक्षकों की लापरवाही से दो मासूम बच्चों की मौत हो गई है। ग्राम सटेली के ग्रामीण इस उम्मीद से बच्चों को स्कूल भेज रहे थे कि पढ़ लिखकर होनहार बनेंगे। लेकिन जिम्मेदार शिक्षक स्कूल से नदारद रहे और बच्चे खेलते-खेलते तीन सौ मीटर दूर तालाब पहुंच गए, जहां पानी देखकर नहाने की इच्छा पर कपड़े निकाल नहाने उतरे और 6 फीट पानी में डूबने से दोनों बच्चे सौरभ (9) पिता इंदल और सूर्यप्रकाश पिता सुक्कू की मौत हो गई। घटना बाद से मां-बाप और परिजनों का बुरा हाल है।

 

accident news

लापरवाही से हुई मौत
बच्चे कैसे पहुंचे तालाब:- मृतक छात्र सूर्य प्रकाश के पिता सुक्कू राम ने बताया कि वह घर में ही था। तब ग्रामीणों ने बताया कि तुम्हार बच्चा पानी में डूब गया है। तभी मैं दौड़ते हुए तालाब के पास गया, जहां मेरे बेटे के अलावा एक और बच्चा तालाब के बाहर रखे थे और दोनों दम तोड़ चुके थे। मेरे बेटे की मौत शिक्षक के लापरवाही से हुई है।

accident news

कर रहे थे मुर्गा पार्टी
शिक्षक, स्वीपर, रसोइया मुर्गा पार्टी मना रहे थे, स्कूल में कोई नहीं था इसीलिए बेटा डूब गया। शिक्षक और स्वीपर खुद मेरे घर मुर्गी मांगने आए थे मैं मना किया। वहीं शाला प्रबंधन समिति अध्यक्ष शिवलाल नरेटी ने कहा कि मैं बाजार गया था, मेरे घर में मुर्गा पार्टी मना रहा था। ग्रामीण भुनेश नरेटी, नथेश नरेटी ने घटना का कारण पार्टी बताया है।
शिक्षक ने कहा-मैं लघु अवकाश पर था:- शिक्षक धनंजय नुरुटी ने कहा कि तीन बजे मैं लघु अवकाश दिया था और खुद रिकार्ड बना रहा था।

दे रहे टालमटोल जवाब
इसी दौरान बच्चे दौड़ते हुए आए कि दो बच्चे तालाब में डूब रहे हैं। मैं इन्हीं बच्चों के साथ तालाब गया तो बच्चों ने कहा सर दोनों भाग गए हैं, फिर स्कूल आया तो दोनों बच्चे नहीं थे तो सूचना देने वाले बच्चों को डांटा तो बोले दोनों डूब गए हैं। मैं पानी में खुद तलाश किया और दोनों छात्रों को 5 फीट से अधिक गहरे पानी से बाहर निकालकर परिजनों को सूचना दिया। मुर्गा पार्टी के सवाल टालमटोल जवाब देते हुए कहा कि मैं मुर्गा पार्टी के संबंध में नहीं जानता हूं।

accident news

स्वीपर बोला-हां मना रहे थे मुर्गा पार्टी:- सटेली के स्वीपर धनसू ने बताया कि डेढ़ बजे बच्चों को खाना खिलाया शिक्षक धनंजय नुरूटी ने कहा कि मेरा संविलियन हो गया है और वेतन भी बढ़ा है, मैं तुम्हें पार्टी दूंगा और खुद अपने गांव से मुर्गा खोजकर लाया और मुर्गा को शाला प्रबंधन समिति अध्यक्ष शिवलाल नरेटी के घर बना रहे थे। इसी दौरान दो बच्चे पानी में डूब गए, शिक्षक दौड़ते हुए गया और तालाब से निकाला लेकिन मौत हो चुकी थी। स्कूली छात्र वासुदेव और पीयुष ने बताया कि हम चार लोग तालाब तरफ गए थे। सौरभ और सूर्यप्रकाश नहाने की बात कहकर कपड़े निकालकर तालाब में घूस गए। गहरे पानी में चले गए और डूब गए।

अकेला संतान था सौरभ:-सौरभ के दादा दयाराम नरेटी ने बताया कि मैं बाजार संबलपुर गया था। लौटा तो घर में सभी रो रहे थे। मैं हैरान हो गया कि आखिर यह हादसा कैसे हुआ। सौरभ अपने पिता का अकेला संतान था और कोई भाई बहन नहीं हैं। अन्य भाई बहनों की भी मौत हो गई है, मां बीमार है।

प.पुलिस चौकी दमकसा, के पारस पटेल ने बताया दो बच्चों की मौत होने की परिजनों की सूचना पर सटेली पहुंचे और शव की पीएम करवाए हैं।

जसद क्षेत्र बरहेली, के पीलम नरेटी ने बताया मुर्गा पार्टी करने की शिकायत बेबुनियाद है, शिक्षक से कोई शिकायत नहीं है, यह हादसा है।

बीईओ दुर्गूकोंदल के अनुराग त्रिवेदी ने बताया विभाग से घटना की बयान लिये, कार्यवाही के लिए प्रतिवेदन उच्चाधिकारियों को सौंपेंगे, साथ पीडि़त परिवार को छात्र बीमा योजना के तहत एक-एक लाख रूपये की चेक प्रदान किया गया है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned