फरियादी की इस हरकत से मच गया हड़कम्प, फिर डीएम ने दिया यह आदेश

रतनापुर सरैंया का ग्रामीण अपने परिवार समेत तहसील पहुंच हंगामा करने लगा।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 16 May 2018, 02:19 PM IST

कन्नौज. ग्रामीण क्षेत्र की जनता रसूखदार लोगों कितने सताए हुए होते हैं इसका एक नजारा उस समय दिखाई दिया जब संपूर्ण समाधान दिवस के बीच रतनापुर सरैंया का ग्रामीण अपने परिवार समेत तहसील पहुंच हंगामा करने लगा। अफसर कुछ समझते तब तक खुद पर केरोसिन डाल कर आत्मदाह का प्रयास किया। दूसरे पक्ष से प्रधान को बुलाया गया तो उसने भी अफसरों को खुदकशी करने की धमकी दी। इस पर डीएम ने दोनों पक्षों के चार लोगों को जेल भेजने के आदेश दिए।

केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश

कन्नौज के ठठिया थाना क्षेत्र के रतनापुर सरैंया गांव निवासी विसर्जन सिंह व अनिल कुमार अपने परिवार के साथ तहसील पहुंचे। संपूर्ण समाधान दिवस के बीच में हंगामा शुरू कर दिया। जमकर शोर मचाया और अफसरों को शिकायत बताते वक्त विसर्जन ने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश की। पुलिस ने माचिस छीन दोनों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। पीड़ितों ने बताया कि ग्राम प्रधान राम किशुन ने खेतों का चकरोड बंद कर दिया है। इससे काफी दिक्कतें होती हैं।

हिरासत में लेने के आदेश

शिकायतें करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। पुलिस ने प्रधान को बुलाया तो उसने भी अफसरों के सामने साथी अवधेश कुमार के साथ तहसील में ही फांसी लगाकर आत्महत्या करने की धमकी दे दी। इस पर जिलाधिकारी ने दोनों को हिरासत में लेने के आदेश दिए। कोतवाली प्रभारी आमोद कुमार सिंह ने शांति भंग की धाराओं में चारों आरोपियों को जेल भेजा है।

जांच कमेटी गठित

जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित की है। इसमें तहसीलदार, दो राजस्व निरीक्षक, चार लेखपाल व दो थानाध्यक्षों को शामिल किया गया है। टीमें चकरोड की पैमाइश के लिए रवाना हो गई। गौरतलब है कि इस मामले में एक बार पैमाइश के दौरान राजस्व निरीक्षक व पुलिस को खदेड़ा जा चुका है। इसलिए मामला सुलग रहा है। इस बार प्रशासन पूरा हल निकालने के मूड में है।

 

 

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned