धूल भरी हवाओं और धुएं ने गर्मी में भी हवा को किया प्रदूषित

धूल भरी हवाओं और धुएं ने गर्मी में भी हवा को किया प्रदूषित

Alok Pandey | Publish: May, 06 2019 11:44:56 AM (IST) | Updated: May, 06 2019 11:44:57 AM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

आमतौर पर गर्मी में प्रदूषण के कण हो जाते हैं सीमित,
मार्च-अप्रैल में प्रदूषण सामान्य से काफी ज्यादा रहा

कानपुर। धूल भरी हवाओं और धुएं के चलते इस बार गर्मी में भी प्रदूषण कम नहीं हो सका है। जबकि गर्मी में प्रदूषण के कण सूखने के कारण हवा में दूर तक नहीं फैल पाते हैं और प्रदूषण में कमी आ जाती है पर इस बार स्थितियां ज्यादा खराब हैं। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक लगातार धूल भरी हवाओं ने प्रदूषण बढ़ा दिया है।

कूड़ा जलाने से बढ़ा प्रदूषण
गर्मियों में जगह-जगह कूड़ा जलाने से शहर में प्रदूषण की मात्रा में बढ़ोत्तरी हुई है। इसके अलावा वाहनों की ज्यादा होने से बढ़ा धुंआ भी प्रदूषण बढ़ाने में सहायक हुआ है। शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में प्रदूषण की मात्रा अलग-अलग है।

कानपुर दुनिया में सबसे प्रदूषित
पिछले दिनों संयुक्त राष्ट्र संघ की तरफ से कानपुर को दुनिया का सर्वाधिक प्रदूषित शहर घोषित किया गया था। मगर इसके बाद भी शहर में प्रदूषण कम करने को लेकर कोई कवायद शुरू नहीं की गई। जिस कारण गर्मी में प्रदूषण और बढ़ गया है।

पीएम ३१५ तक पहुंचा
बोर्ड की तरफ से जारी रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल माह में पीएम-१० की मात्रा जो ५० होनी चाहिए वह ३१५ दर्ज की गई। जबकि एयर क्वािलटी इंडेक्स जो ५० से १०० के बीच होना चाहिए वह बढ़कर २०० तक जा पहुंचा।

श्वसन क्रिया को नुकसान
विशेषज्ञों के मुताबिक इन महीनों में पीएम १० की मात्रा एक घनमीटर में १० माइक्रोग्राम के ५० प्रदूषित कण होने चाहिए। जबकि एयर क्वालिटी इंडेक्स की मात्रा १०० से ऊपर नहीं होनी चाहिए। ऐसा होने पर श्वसन क्रिया पर विपरीत असर पड़ता है।

सबसे ज्यादा प्रदूषण रामादेवी में
शहर के अलग-अलग हिस्सों में प्रदूषण की स्थिति अलग है। सबसे ज्यादा खराब स्थिति रामादेवी में है। मार्च में रामादेवी में पीएम १० की मात्रा ३३७ थी, जबकि अप्रैल में ३१५ रही। इसके विपरीत अन्य इलाकों में दादानगर में २५५, जरीब चौकी में २१७, किदवईनगर में १८६ और आवास विकास में १६० रही।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned