सपा और बसपा से आगे निकली कांग्रेस, बीजेपी को हराने के लिए बुना चक्रव्यूह

सपा और बसपा से आगे निकली कांग्रेस, बीजेपी को हराने के लिए बुना चक्रव्यूह

Vinod Nigam | Publish: Sep, 09 2018 10:24:32 AM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

गठबंधन के तौर पर कानपुर सीट से लड़ेगी कांग्रेस, बीजेपी को घेरने के लिए बना रही रणनीति, सड़क में जंग तो संगठन को कर रहे मजबूत

कानपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर जहां सपा और बसपा ने एकसाथ आने का ऐलान कर दिया है, वहीं कांग्रेस भी अपनी खोई जमीन वापस पाने के लिए जुट गई है। कानपुर में पंजा, हाथी और साइकिल को मात देकर आगे निकल गया है और बीजेपी से सीधी टक्कर ले रहा है। कांग्रेस एक तरफ संगठन को मजबूत कर रही है तो दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आक्रमण रूख अख्तियार कर लिया है। ’गिरता रुपया-महंगा तेल’ ’मोदी जी का देखो खेल’ जैसे नारों के साथ कांग्रेसी आंदोलन कर रहे हैं और इसी कड़ी के तहत 10 सितम्बर को भारत बन्द को लेकर हरप्रकाश अग्निहोत्री के नेतृत्व मे’ सैकड़ां कार्यकर्ता शहर भर में घूमें और बंद में सहयोग करने की अपील की।

इसलिए कांग्रेस की सक्रियता बढ़ी
समाजवादी पार्टी जहां परिवार में रार को लेकर परेशान है तो वहीं कानपुर में बसपा की स्थित भी ज्यादा अच्छी नहीं है। संगठन और कार्यकर्ताओं की कमीं के चलते मायावती के धुरंधर अपने को कार्यालय तक सीमित किए हुए हैं। बाढ, अपराध, पेयजल, पेट्रोल और राशन जैसी तमाम समस्याओं के खिलाफ सिर्फ कांग्रेस लोगों के साथ सड़क पर उतर कर धरना-प्रदर्शन कर रही है। जानकारों का मानना है कि गठबंधन के चलते कानपुर की सीट कांग्रेस को मिली है। इसी के चलते सपा व बसपा के कार्यकर्ता सड़क में नहीं दिख रहे हैं। जबकि कांग्रेस बीजेपी को 2019 में पटखनी देने के लिए पूरी ताकत लगाए हुए है। इसी के चलते कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी शहर आई और कार्यकर्ताओं के अंदर जोश भर कर चली गई।

10 को भारत बंद का किया ऐलान
पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस मूल्यवृद्धि, जीएसटी और नोटबंदी के मुद्दे पर भारत बंद के कांग्रेस आलाकमान के फरमान के बाद शहर कांग्रेस ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। शनिवार को तिलक हाल में एआइसीसी और पीसीसी सदस्यों और वरिष्ठ कांग्रेसियों की बैठक बुलाई गई, जिसमे 10 सितंबर को होने वाले भारत बंद को सफल बनाने पर रणनीति बनी। तय हुआ कि पदाधिकारी, वरिष्ठ कार्यकर्ता, एआइसीसी और पीसीसी सदस्य सभी अपने-अपने क्षेत्रों में टोली बनाकर व्यापार मंडल के पदाधिकारियों व दुकानदारों से मिलेंगे। शहर कांग्रेस अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने बताया कि रविवार को भी टोली बनाकर पदाधिकारी व कार्यकर्ता निकलेंगे और 10 सितंबर को सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक अपनी-अपनी दुकानें बंद रखने की अपील करेंगे।

भईया आए साथ, बंद को बनाए सफल
प््रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अच्छे दिन के विरोध मे 10 सितम्बर को कांग्रेस के भारत बन्द को सफल बनाने को लेकर हरिप्रकाश अग्निहोत्री के नेतृत्व मे’ सैकड़ों कार्यकर्ता मेस्टन रोड, नयागंज, चैक सर्राफा, मनीराम बगिया, बिजली मार्केट, काहू कोठी, किराना बाजार, नौघड़ा, जनरलगंज, कपड़ा कमेटी, कलक्टरगंज, हालसी रोड, लाटूश रोड मुख्य बाजारो’ मे दुकान-दुकान जाकर पर्चा देकर भारत बन्द मे सहयोग करने की अपील की। कांग्रेस अध्यक्ष हरिप्रकाश अग्निहोत्री’ ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा हर वर्ग की लड़ाई लड़ी है और आगे भी लड़ती रहेगी। बन्दी को सफल बनाने के लिए तमाम व्यापार मण्डल ने समर्थन देकर बाजार बन्द रखकर विरोध दर्ज कराने का भरोसा दिया है। नगर अध्यक्ष ने बताया कि जनता 2019 में कानपुर नगर व देहात के अलावा देश से बीजेपी का सूफड़ा साफ कर देगी।

बूथ पर तैनात कर रहे फौज
कांग्रेस जहां भारत बंद सहित सड़क के जरिए बीजपी के खिलाफ आंदोलन कर रही है, वहीं हर बूथ मजबूत करने की तैयारी कर रही है। गोविंद नगर के 17 वार्ड में 302 बूथ कमेटियों को भंग कर नए सिरे से गठित किया गया है। हर बूथ में पांच-पांच सक्रिय युवाओं को जिम्मेदारी दी गई है। महत्वपूर्ण बूथों में अनुभवी लोगों को रखा गया है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने बताया कि पांच विधानसभा क्षेत्रों में बूथ कमेटियां गठित की जाएंगी। आर्यनगर की 252 और सीसामऊ की 248 बूथ कमेटियों के लिए एआइसीसी और पीसीसी सदस्यों से नाम मांगे गए हैं। इसके बाद छावनी और किदवई नगर में बूथ कमेटियों का गठन होगा। इसके साथ ही हर पोलिंग स्टेशन का एक इंचार्ज भी बनाया जाएगा। बूथ कमेटियों के गठन की जिम्मेदारी छह सदस्यीय कमेटी को दी गई है।

 

Ad Block is Banned