कोरोना संक्रमण बचाव में उपयोगी रेमेडिसविर इंजेक्शन की खेप के साथ पकड़े गए आरोपियों पर लगी रासुका

योगी सरकार की इस कार्रवाई से स्पष्ट है कि वैश्विक महामारी संकट में कोरोना के खिलाफ जंग में आवश्यक चिकित्सा दवाओं की कालाबाजारी माफ नही की जाएगी।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 19 Apr 2021, 01:37 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. रेमेडिसविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की खेप के साथ कानपुर में पकड़े गए तीनों आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाही की गई है। बीते दिन रेमेडिसविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection Kalabari) की खेप के साथ आरोपी पकड़े गए थे। ऐसे कोरोना के संकट (Corona Crisis) में सरकार का रुख सख्त है। मामले को लेकर प्रदेश सरकार ने रेमेडिसविर इंजेक्शन समेत कोरोना (Corona Virus In UP) उपचार में प्रयोग होने वाली सभी आवश्यक दवाओं की जमाखोरी रोकने के लिए अधिकारियों को कड़े कदम उठाने को कहा है। जिसके बाद पुलिस और उसकी सभी एजेंसियां एक्शन मूड में हैं।

कोरोना के संकटकाल में सीएम योगी (CM Yogi) ने पुलिस अधिकारियों को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है, जो कोविड-19 दवाओं के गोरखधंधे में लिप्त हैं। योगी सरकार की इस कार्रवाई से स्पष्ट है कि वैश्विक महामारी (Corona Mahamari) संकट में कोरोना के खिलाफ जंग में राज्य की कोरोना से पीड़ित जनता और उनके परिजनों के साथ किसी प्रकार की लूट और कालाबाजारी माफ नही की जाएगी। सभी दवाओं और सुविधा का लाभ सभी कोरोना पीड़ितो को मिले। इसको लेकर राज्य सरकार लगातार गंभीर है।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर (ADG Law And Order) प्रशांत कुमार ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में प्रशासन सक्रिय है। पूरी सतर्कता से दवा कंपनियों, दवा व्यापारियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। कोविड-19 के उपचार में प्रभावी रेमेडिसविर इंजेक्शन समेत 8 अन्य महत्वपूर्ण दवाओं की यदि कहीं भी कालाबाजारी हुई तो दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन और पुलिस के सहयोग से पूरी मुस्तैदी के साथ ऐसी कालाबाजारी व जमाखोरी को हर हाल मे रोकने का काम किया जा रहा है।

Corona virus
Show More
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned