सीएसजेएमयू की मदद से स्वच्छता रैंक सुधारने की कोशिश में जुटा प्रशासन

सीएसजेएमयू की मदद से स्वच्छता रैंक सुधारने की कोशिश में जुटा प्रशासन

Alok Pandey | Updated: 23 Sep 2019, 02:22:30 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

सभी कॉलेजों से एप डाउनलोड करने के निर्देश
२०१९ के सर्वे में काफी पीछे चल रहा कानपुर

कानपुर। कानपुर नगर प्रदेश में चल रहे स्वच्छता सर्वेक्षण (ग्रामीण) 2019 के सर्वे में बहुत पीछे चल रहा है। स्वच्छता रैंकिंग सुधारने के लिए जिला प्रशासन ने सीएसजेएमयू से मदद मांगी है। इस सर्वे में एक एप डाउनलोड करने के आधार पर रैंकिंग दी जा रही है। इसलिए रैंक सुधारने के लिए अब विवि प्रशासन ने सभी कॉलेजों को एप डाउनलोड करने का निर्देश जारी किया है। विवि से संबद्ध नगर में जितने भी महाविद्यालय है उन सभी में हर छात्र और शिक्षक को यह एप डाउनलोड करने के लिए कहा गया है, ताकि शहर की रैंक सुधर सके।

कानपुर नगर आखिरी दस स्थानों पर
अलग-अलग बिंदुओं के आधार पर प्रदेश के जिलों को रैंकिंग दी जा रही है। इस रैंकिंग सूची में कानपुर नगर लगातार अंतिम दस स्थानों में शामिल है। इस सूची में अपना स्थान सुधारने के लिए जिला प्रशासन ने अब छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय से मदद मांगी है। यह रैंकिंग स्वच्छता सर्वेक्षण एप डाउनलोड करने के आधार पर बन रही है। इसलिए अधिक से अधिक एप डाउनलोड कराने का आग्रह किया गया है।

सभी छात्र और शिक्षक करें डाउनलोड
विवि के रजिस्ट्रार डॉ. विनोद कुमार सिंह ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में कानपुर नगर टॉप-10 में शामिल हो, इसके लिए सभी कॉलेजों को पत्र जारी किया गया है। कॉलेजों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने यहां जागरुकता कार्यक्रम चलाकर छात्रों को मोटीवेट करें। कोशिश करें कि सौ फीसदी छात्र, शिक्षक व अभिभावक इस एप को डाउनलोड करें। इसे डाउनलोड करने में महज एक मिनट का समय लगता है। अपने शहर के लिए एक मिनट का समय जरूर दें। शहर की रैंकिंग सुधरेगी तो अन्य लाभ भी मिलेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned