सीएसजेएमयू में छात्रों की सुविधा के लिए बनाया पोर्टल बन गया सिरदर्द

सीएसजेएमयू में छात्रों की सुविधा के लिए बनाया पोर्टल बन गया सिरदर्द

Alok Pandey | Updated: 11 Oct 2019, 12:17:32 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

नैड पोर्टल पर पंजीकरण फार्म भरने में आ रही मुश्किलें, छात्र परेशान

कॉलजों से आ रही शिकायतों पर भी विवि के अफसरों ने कान बंद किए

कानपुर। छात्रों की सुविधा और फर्जीवाड़े पर अंकुश लगाने के लिए तैयार कराया गया छत्रपति शाहू जी महाराज विवि का नेशनल एकेडमिक डिपॉजटरी (नैड) पोर्टल शुरू में ही छात्रों के लिए परेशानी खड़ी कर रहा है। इस पोर्टल पर परीक्षा फार्म भरने में छात्रों के पसीने छूट रहे हैं। पोर्टल सही ढंग से न चल पाने के कारण छात्रों के आवेदन फार्म लटके हुए हैं। इस सिलसिले में सीएसजेएमयू से संबद्ध महाविद्यालयों से भी बार-बार शिकायतें विवि आ रही हैं, लेकिन यहां के प्रशासनिक अफसर किसी भी शिकायत पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

पूरी तैयारी के बावजूद मामला लटका
सीएसजेएमयू ने परीक्षा फॉर्म भरने के लिए जिस नेशनल एकेडमिक डिपॉजटरी (नैड) पोर्टल को तैयार करवाया, वह विवि अब छात्रों और प्रशासन के लिए सिरदर्द बन गया है। विवि प्रशासन द्वारा नैड पर पंजीकरण के लिए कॉलेजों के कर्मियों का बाकायदा प्रशिक्षण भी कराया गया, मगर कॉलेज में जब छात्रों ने पंजीकरण शुरू किया तो वह फॉर्म नहीं भर पा रहे हैं। कॉलेज संचालकों का कहना है कि अभी इसे समझने में बहुत दिक्कत आ रही है। विवि में कोई इससे जुड़ी शिकायत सुनने के लिए तैयार नहीं है। उप्र स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी का कहना है कि मौजूदा समय को देखते हुए नैड पोर्टल विवि का एक सराहनीय प्रयास है। हालांकि अभी इसकी प्रक्रिया समझने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इसलिए पड़ी पोर्टल की जरूरत
विवि से आए दिन ही अंकतालिका का गलत उपयोग, सत्यापन के दौरान लापरवाही के मामले सामने आते हैं। इसीलिए इस पोर्टल को तैयार कराने की जरूरत पड़ी। अब इस पोर्टल के माध्यम से छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन अंकतालिका भी उपलब्ध कराई जा सकेगी। अफसरों का कहना है इससे अंकतालिका संबंधी फर्जीवाड़ा पूरी तरह से रुक जाएगा। इसके अलावा जिन कॉलेजों से परीक्षा फॉर्म भराने में खेल किया जाता है। उन पर भी अंकुश लगेेगा। सीएसजेएमयू के कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह ने कहा है कि जिन कॉलेज संचालकों को नैड पोर्टल पर काम करने में परेशानी हो रही है, वह विवि में आकर अपनी बात कह सकते हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned