टिकट के बाद भी ग्रीनपार्क में नहीं मिली एंट्री, मंत्री-विधायकों के परिजनों को मिली तव्वजों

टिकट के बाद भी ग्रीनपार्क में नहीं मिली एंट्री, मंत्री-विधायकों के परिजनों को मिली तव्वजों
Team India

Shatrudhan Gupta | Updated: 29 Oct 2017, 06:48:50 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

नाराज लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया, इस पर पुलिस ने उन्हें लाठी पटककर खदेड़ दिया।

कानपुर. भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच एक दिवसीय क्रिकेट मैच को देखने के लिए रविवार को सुबह से ही ग्रीनपार्क स्टेडियम में दर्शकों का जमावड़ा था। सुबह दस बजे से स्टेडियम के 11 गेट दर्शकों के लिए खोल दिए गए थे। एक-एक दर्शक की तलाशी के साथ स्टेडियम में पुलिस ओर प्रशासन के अफसर एंट्री करवा रहे थे। डेढ़ बजे जैसे ही मैच शुरू हुआ तो ग्रीनपार्क प्रशासन ने गेट बंद करवाने के आदेश दे दिए। इससे दूर-दराज से आए सैकड़ों लोग टिकट होने के बावजूद अंदर नहीं जा सके। इससे नाराज लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया, इस पर पुलिस ने उन्हें लाठी पटककर खदेड़ दिया। हमीरपुर से आए निर्मल ने बताया कि हमारे पास टिकट होने के बाद भी पुलिसवालों ने अंदर नहीं जाने दिया। वहीं खाकीधारियों के भाजपा के नेताओं के परिजनों को चार पहिया वाहन के जरिए अंदर करवाया गया।

लाठी पटककर खदेड़ा

ग्रीनपार्क प्रशासन की हठ के चलते सैकड़ों की संख्या दर्शक टिकट होने के बावजूद मैच नहीं देख सके। उन्हें गेट के बाहर से मायूश होकर लौटना पड़ा। लोगों का आरोप है कि ग्रीनपार्क के साथ ही पुलिस-प्रशासन के अफसर अपने चहेतों को स्टेडियम में प्रवेश कराया। चकेरी निवासी अरुण यादव ने बताया कि हमने स्टेट बैंक की शाखा से टिकट लिया था। हम अपनी पत्नी के साथ मैच देखने के लिए आएए लेकिन जब तक गेट नंबर पांच पर पहुंच पाते वह बंद कर दिया गया। हमारे सामने पुलिसवाले चार पहिया वाहनों में लोगों को अंदर करवाते रहे।

मंत्रियों और विधायकों को मिले पास

देररात पास को लेकर हुए बवाल के बाद खेलमंत्री ने स्थानीय भाजपा के मंत्रियों, विधायकों के साथ ही बड़े नेताओं के परिजनों को पास दिए। वहीं कुछ विरोधी दल के नेताओं के परिजन भी जुगाड़ के जरिए स्टेडियम के अंदर प्रवेश कर गए। इसके साथ ही भाजपाई भगवा गमछे के ग्रीनपार्क में मैच देखने के लिए पहुंचे। भगवा गमछा देखकर पुलिसवाले भी उनसे टिकट के बारे में नहीं पूछा और नहीं तलाशी ली। भाजपा नेता अजय अग्निहोत्री ने बताया कि हम टिकट लेकर मैच देखने के लिए आए हैं। हमने मैच से पहले नया भगवा गमछा पीएम-सीएम का नाम लिखा खरीदा है।

घुड़सवार पुलिस मौजूद, युवतियों को भी नहीं मिली एंट्री

दर्शकों की संख्या ज्यादा होने के उन्हें कंट्रोल करने के लिए घुड़सवार पुलिसवाले ग्राउंड के बाहर तैनात थे। जब दर्शकों ने हुड़दंग मचाया तो उन्होंने उन्हें घोड़ों का डर दिखाकर खदेड़ा। मैच देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में युवतियों के साथ ही छात्र-छात्राएं सुबह से ग्रीनपार्क पहुंच गई थीं, लेकिन डेढ़ बजने के बाद उन्हें भी बैरंग लौटना पड़ा। आईआईअी की तैयारी कर शिखा खरे ने बताया कि हम चार फ्रेंड मैच देखने के लिए पहुंचेए लेकिन डे? बजे के बाद गेट बंद कर दिए गए ओर हमें पुलिस ने अंदर नहीं जाने दिया।

राजस्थान के दो युवकों को पुलिस ने किया अरेस्ट
ग्रीनपार्क के बाहर टिकटों की कालाबाजारी करने वाले 2 युवक को पुलिस की टीम ने धर दबोचा। बताया जा रहा है कि ये दोनों युवक राजस्थान से आए थे, जिसमें एक का नाम सुरेश कुमार और दूसरे का राजू है। ग्रीनपार्क के बाहर ये दोनों शख्स मैच के टिकट ब्लैक कर दर्शकों को बेचने में जुटे हुए थे, जिसमें 5 सौ का टिकट 1 हजार में बेच रहे थे। इस दौरान पुलिस प्रशासन की नजर इन पर पड़ी और तुरंत दोनों युवकों को रंगे हाथ पकड़ लिया गया। पुलिस को इनके पास से 10-12 टिकट बरामद किए गए हैं, जिन्हें ये ब्लैक करने में जुटे हुए थे। फिलहाल दोनों युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned