मानव तस्करी में दिल्ली और मुंबई के गिरोह से जुड़े तार, आरोपियों के मोबाइल से मिले संदिग्ध नंबर

इनके मोबाइल से टीम को छह से अधिक संदिग्ध नंबर मिले हैं। जिन्हें सर्विलांस में लेने के साथ ही उनकी सीडीआर रिपोर्ट भी निकलवाई जा रही है।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 18 Apr 2021, 01:17 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. मानव तस्करी (human Trafficking) में महिलाओं को बेचने के मामले में मुंबई और दिल्ली से जुड़े होने की बात सामने आई है। मानव तस्करी का बड़ा गिरोह (Human Trafficking Giroh) वहां सक्रिय है। इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच को कानपुर में पकड़े गए तस्करी के दो एजेंटों मुजम्मिल और अतीकउर्रहमान की कॉल डिटेल से पता चला है। सूत्रों के मुताबिक यहां बड़े पैमाने पर गरीब और लाचार महिलाओं को नौकरी लगवाने के नाम पर विदेश भेजने का काम होता है। मामले में एजेंटों से पूछताछ में मोबाइल में व्हाट्सअप से बात होने सहित खाड़ी क्षेत्रों के संपर्क भी मिले थे।

ये एजेंट गरीब और लाचार महिलाओं को अपना शिकार बनाते थे और उन्हें तीस तीस हजार रुपए में बेचते थे। जिन्हें विदेश भेजने का कार्य किया जाता था। इनके मोबाइल से टीम को छह से अधिक संदिग्ध नंबर मिले हैं। जिन्हें सर्विलांस में लेने के साथ ही उनकी सीडीआर रिपोर्ट भी निकलवाई जा रही है। क्राइम ब्रांच ने तह तक जाने के लिए दिल्ली और मुंबई पुलिस से भी ये नंबर साझा किए हैं। हालांकि कोरोना के केस कम होने पर एक टीम मुंबई और दिल्ली जाएगी।

वहीं बताया गया है कि ओमान में तस्करों के चंगुल से मुक्त हुईं दो महिलाएं आज दोपहर तक चेन्नई पहुंचेंगी। जिसमें एक पीड़िता कानपुर व दूसरी उन्नाव की है। हवाई यात्रा के जरिए उन्हें चेन्नई से लखनऊ लाया जाएगा। फिर सड़क मार्ग से कानपुर पहुंचेंगी। यहां मजिस्ट्रेट के सामने उनके बयान दर्ज होंगे। बयान के आधार पर एफआईआर में धाराओं की बढ़ोतरी होगी। क्राइम ब्रांच महिलाओं से पूछताछ करेगी। डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल ने एनजीओ के माध्यम से लखनऊ आने तक की एयर टिकट की व्यवस्था की है।

Show More
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned