कानपुर आईआईटी वैज्ञानिक ने कहा मजबूत करें तैयारी, अक्टूबर में आ सकती कोरोना की थर्ड वेव

उन्होंने कहा तीसरी लहर के लिए सरकार अभी से तैयारी में जुट जाए। जिससे आगे के लिए खतरा कम किया जा सके।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 11 May 2021, 01:44 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के वरिष्ठ वैज्ञानिक (Scientist IIT Kanpur Manindra Agrawal) एवं पद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने जुलाई तक कोरोना (Corona Virus) की दूसरी लहर की समाप्ति की बात कही है। अपने कम्प्यूटिंग मॉडल (Computing Model) के आधार पर उन्होंने अक्टूबर में तीसरी लहर के आने की संभावना भी जताई है। उन्होंने कहा तीसरी लहर के लिए सरकार अभी से तैयारी में जुट जाए। जिससे आगे के लिए खतरा कम किया जा सके। उन्होंने सरकार को थर्ड वेव (Corona Third Wave) से निपटने के लिए कई सुझाव भी दिए हैं। उन्होंने यह दावा इसी मॉडल के आधार पर किया है। हालांकि कोरोना की तीसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है।

प्रोफेसर ने पहली और दूसरी लहर के आधार पर तैयार किए मॉडल के आधार पर कोरोना सेकंड वेव का पीक टाइम और उसके समाप्ति की जानकारी दी है। हालांकि पिछले माह से शुरू हुए इस मॉडल का अनुमान अब तक लगभग सही जा रहा है। इसी मॉडल के अनुसार जुलाई तक पूरे देश में कोरोना की स्थिति लगभग सामान्य हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा सामान्य स्थिति का इंतजार करने की बजाय अगली तैयारी जोरदार तरीके से करने की जरूरत है। इससे अक्टूबर में आने वाली थर्ड वेव के खतरे को कम किया जा सके। इसके लिए जरूरी है कि सेकेंड वेव खत्म होने के बाद भी मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराया जाए। साथ ही अक्टूबर से पहले तक 90 फीसदी लोगों को वैक्सीनेशन हो जाए।

उन्होंने बताया कि महामारी की भयावहता को मापने के लिए आर नॉट वैल्यू निकाली जाती है। कोरोना की फर्स्ट वेव में आर नॉट वैल्यू दो से तीन के करीब थी। मतलब एक व्यक्ति दो से तीन लोगों को संक्रमित कर रहा था। जबकि सेकेंड वेव में आर नॉट वैल्यू चार से पांच के करीब है। मतलब एक व्यक्ति कम से कम चार से पांच लोगों को संक्रमित कर रहा है। आर नॉट वैल्यू एक से कम होने पर यह महामारी खत्म हो जाती है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned