प्लेसमेंट में आईआईटी कानपुर अव्वल, सात छात्रों को मिला एक करोड़ से अधिक का पैकेज

कानपुर आईआईटी एक बार प्लेसमेंट के मामले नंबर एक पर है।

कानपुर. कानपुर आईआईटी एक बार प्लेसमेंट के मामले नंबर एक पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (कानपुर) के 87 प्रतिशत छात्रों को इस सत्र के प्लेसमेंट के पहले फेज में जॉब ऑफर हुए हैं। इस बार प्लेसमेंट के लिए कुल 1053 छात्रों ने पंजीयन कराया था। इनमें 87 फीसद छात्रों को कुल 238 कंपनियों ने जॉब ऑफर किए हैं।

40 प्रतिशत का हुआ इजाफा

आईआईटी कानपुर में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है जबकि सभी आईआईटी संस्थानों मेंर 30 प्रतिशत प्लेसमेंट का इजाफा हुआ है। आंकड़ों के अनुसार सर्वाधिक ड्यूअल डिग्री वालों को जॉब ऑफर मिले हैं। इनकी संख्या 97 प्रतिशत है। स्नातक में 83 प्रतिशत और परास्नातक में 78 प्रतिशत छात्रों को जॉब ऑफर हुए हैं। जबकि पिछले साल स्नातक में 81 प्रतिशत, ड्यूअल डिग्री में 95 और परास्नातक में 81 प्रतिशत छात्रों का प्लेसमेंट हुआ था। आईआईटी कानपुर के उप-निदेशक प्रो. मणिंद्र अग्रवाल बताते हैं कि इस बार हायरिंग सेक्टर में नए युवाओं की ज्यादा डिमांड देखी गई है। बड़ी संख्या में स्टार्टअप कंपनियों के शुरू होने से भी हायरिंग में इजाफा देखने को मिला है।

सात छात्रों को मिला एक करोड़ से अधिक का पैकेज

प्लेसमेंट ड्राइव में इस बार सात आईआईटीयंस को एक करोड़ से अधिक का पैकेज मिला है। सर्वाधिक पैकेज सोशल मीडिया साइट फेसबुक ने दो छात्रों को दिया है। प्रत्येक का सलेक्शन 1.42 करोड़ रुपये सालाना पैकेज पर हुआ है। इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट ने भी तीन छात्रों को सवा-सवा करोड़ के पैकेज दिए थे। दो अन्य छात्रों को ऑरेकल कंपनी ने एक-एक करोड़ के पैकेज पर चयनित किया है।

टर्मिनेट किए गए 136 स्टूडेंट्स

कई बार फेल हो चुके 136 छात्रों-छात्राओं पर सोमवार को आईआईटी कानपुर ने बड़ी कार्रवाई की है। इन सभी छात्रों को एकेडमिक टर्मिनेट कर दिया गया है। इनमें से 46 छात्र-छात्राएं बैचलर डिग्री, 90 मास्टर्स डिग्री और पीएचडी के हैं। जानकारी के अनुसार, सीनेट की बैठक में अलग-अलग ब्रांच और वर्ष के करीब 150 छात्रों का मामला रखा गया था। इस पर सीनेट ने भी अपनी मंजूरी दे दी। अंतिम फैसला 31 दिसंबर को सीनेट बैठक में होगा।

 

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned