इस नेता ने सपा-बसपा-भाजपा और कांग्रेस को दी पटखनी, चुनाव से पहले ही अपनी सीट पर किया कब्जा

Nitin Srivastava

Publish: Nov, 15 2017 07:56:37 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
इस नेता ने सपा-बसपा-भाजपा और कांग्रेस को दी पटखनी, चुनाव से पहले ही अपनी सीट पर किया कब्जा

इस नेता ने जीत ली अपनी सीट, चुनाव से पहले ही सबने छोड़ा मैदान...

 

कानपुर. उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव अपने चरम पर है। राजनेता मतदाताओं को लुभाने के लिए नए-नए वादे लेकर गली-मोहल्लों की खाक छानने के साथ ही जीत पक्की करने के लिए पानी की तरह पैसा बहा रहे हैं। लेकिन कानपुर से चालीस किमी की दूरी पर स्थित बिल्हौर नगर पालिका के वार्ड अम्बेडकर नगर के लोगों ने अपने नेता का चुनाव बैलेट के बजाय चौपाल लगाकर किया। यहां से दिहाड़ी मजदूर मोहम्मद शफीक के पढ़े लिखे बेटे जीशान अन्सारी को निर्विरोध सभासद चुना गया। जीशान ने बताया कि पर्चा दाखिला के दिन मोहल्ले के लोग एक जगह एकत्र हुए और सर्वसम्मति से हमें सभासद पद के लिए नामांकन करने का आदेश सुना दिया। सबने पैसा दिया तो हमने भी अपने बुजुर्गों की बात को मानते हुए तहसील जाकर पर्चा भर दिया। हमारे खिलाफ कोई प्रत्याशी चुनाव में नही उतरा और इसी के चलते चुनाव अधिकारी ने हमें विजयी घोषित कर दिया।


2017 के चुनाव में पहले निर्विरोध कैंडीडेट

कानपुर नगर के साथ ही घाटमपुर और बिल्हौर नगर पालिका में निकाय चुनाव का प्रचार चल रहा है। सभी राजनीतिक दल 2017 का निकाय चुनाव फतह करने के लिए जुटे हुए हैं और इसी के चलते बड़े-बडे नेता रोड शो और पब्लिक सभा के जरिए अपने-अपने दल के प्रत्याशियों के पक्ष में महौल बना रहे हैं। पर बिल्हौर के अम्बेडकर नगर के मतदाताओं ने चुनाव प्रचार के बवंडर से बचने के लिए अपने नेता का बिना मतदान के चुनाव कर लिया। अम्बेडकर नगर वार्ड से जीशन अंसारी के खिलाफ किसी भी राजनीतिक दल व निर्दलीय ने पर्चा नहीं भरा, जिसके कारण चुनाव अधिकारी ने निर्विरोध सभासद घोषित कर दिया। जीशान के पिता मोहम्मद शफीक दिहाड़ी मजूदर हैं और लोगों के आशियाने बनाकर अपना और अपने परिवार का पेट पालते हैं। मोहम्मद शफीक के दो बेटे और पांच बेटियां हैं। जीशान ने कक्षा दसवीं से लेकर एमकाम प्रथमश्रृणी में उत्तीर्ण किया, जबकि छोटा भाई सरकारी संस्थान से इंजीनिरिंग की पढ़ाई कर रहा है।


चाचा, चच्चा, और सबके दुलारे हैं जीशान

जीशान ने बताया कि उनके पिता के पास अपना निजी मकान नहीं था। पिता झोपड़पट्टी में रहते थे। लेकिन वार्ड के प्रभु शुक्ला ने हमारे पिता को अपने घर में जगह दी और इन्हीं के यहां 1992 को हमारा जन्म हुआ। जीशान ने बताया कि जब हमने होश संभाला तो पढ़ाई के साथ-साथ पिता के साथ मजदूरी के लिए काम पर जाया करते। कक्षा दसवीं में 88 फीसदी तो इंटरमीडिएट 83 फीसदी अंकों के साथ पास करने के बाद हमने सिविल सर्विस की तैयारी का मन बनाया, लेकिन पांच बहनों की शादी के चलते हमने अपनी डगर बदल ली। बीकाम ओर एमकाम की पढ़ाई के साथ-साथ मोहल्ले के बच्चों को पढ़ाने लगे, इससे जो कमाई होती उससे परिवार का गुजर होता। इसी दौरान हमें अपने वार्ड के लोगों का भरपूर सहयोग मिला। पांच साल से हम गरीब-बेसहारा बच्चों को निशःल्क शिक्षा दे रहे थे तो लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी मुहैया कराते। मोहल्ले के प्रभु शुक्ला कहते हैं कि जीशान हमारे वार्ड की शान है और गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल।


307 लोगों ने खड़े कर दिए जीशान के पक्ष में हाथ

जीशान ने बताया कि नगर निकाय चुनाव को लेकर तहसील में चर्चा थी और हमारे वार्ड में राजनीतिक दलों के लोग आते थे। लेकिन 30 अक्टूबर की शाम मोहल्लेवालों ने चौपाल लगाने का निर्णय लिया। चौपाल में 507 में से 307 लोग उपस्थित थे। हमें भी चौपाल में बुलवाया गया। पिता के साथ हम भी पहुंचे गए। इस दौरान सभी ने सभासद का चुनाव करने के लिए चर्चा शुरू की। मोहल्ले के बुजुर्गों ने सर्वसम्मति से हमारे नाम का एलान कर दिया। हमने भी अपने मोहल्ले के लोगों का मान रखने के लिए हामी भर दी। लेकिन हमने इस दौरान कहा कि हम उसी कीमत पर चुनाव लड़ेंगे, जब वार्ड से कोई अन्य पर्चा न भरे। जिस पर सभी ने एक स्वर में रजामंदी कर हमारे नाम पर मुहर लगा दी।


शिक्षा, स्वास्थ्य सड़क और रोजगार पर रहेगा फोकस

जीशान ने कहा कि हमने साइकिल के टायर के जरिए पढ़ाई की, लेकिन हम अपने वार्ड के हर बच्चे को शिशित करने के लिए दिनरात मेहनत करेंगे। जीशान ने बताया कि अपने वार्ड के साथ ही आसपास के गांवों और मोहल्लों में शिक्षा की अलख जगाने के लिए हम काम करेंगे। हम पढ़े-लिखे युवाओं की टीम बनाकर बस्तियों में स्कूल चलाएंगे। बच्चों को शिक्षा के लिए जागरूक कर उन्हें स्कूल पहुंचाएंगे। जीशान ने बताया कि पिछले पांच सालों में दो हजार से ज्यादा बच्चों को स्कूल में दाखिला दिलवाया है। साथ ही अपने वार्ड को भारत का सबसे अच्छा वार्ड बनाएंगे। सड़क और गलियां के अलावा बच्चों के खेलने के लिए पार्क का निर्माण करवाया जाएगा। जिससे की बच्चे शिक्षा के साथ ही स्पोर्ट में अपने जौहर दिखाएं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned