अब कॉल के बाद 15 मिनट में ना आए सरकारी एंबुलेंस, तो एप से करें लोकेशन ट्रेस

सेवा प्रदाता कंपनी ने एंबुलेंस में लगे जीपीएस ठीक कराने के साथ ही एप को अपडेट कराकर एंबुलेंस की ट्रैकिंग का नया फीचर जोड़ा है।

By: Arvind Kumar Verma

Updated: 26 Dec 2020, 11:40 AM IST

कानपुर-सरकार द्वारा एंबुलेंस की 108 सेवा बेहतर सुविधा शुरू की गई लेकिन दुर्घटना के समय कभी कभी देरी होने पर बड़ी घटना हो जाती हैं। एंबुलेंस देरी से पहुंचने की शिकायतों को लेकर सरकार की तरफ से सेवा प्रदाता कंपनी को हिदायत दी गई। जिसके बाद अब सरकारी एंबुलेंस के लिए ऑनलाइन ट्रैकिंग सिस्टम शुरू किया जा रहा है। इससे शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में अब सरकारी एंबुलेंस की लोकेशन ट्रेस करना आसान होगा। फिलहाल कॉल सेंटर पर फोन करने के बाद एंबुलेंस 15 मिनट के अंदर स्थल तक पहुंचेगी। यदि ऐसा नहीं होता है तो ऑनलाइन ट्रैकिंग सिस्टम से उसकी स्थिति जान सकते हैं।

नोडल अफसर के मुताबिक एंबुलेंस का आवंटन होते ही कंपनी लिंक भेजती है, जिससे लोकेशन ट्रेस कर सकते हैं। इस सुविधा को बेहतर बनाने के लिए सेवा प्रदाता कंपनी ने एंबुलेंस में लगे जीपीएस ठीक कराने के साथ ही एप को अपडेट कराकर एंबुलेंस की ट्रैकिंग का नया फीचर जोड़ा है। इससे अब एंबुलेंस एलाट होते ही उस क्षेत्र में मौजूद नजदीकी एंबुलेंस को एप अपने आप बुक कर देता है। जैसे ही एंबुलेंस बुक होगी तो काल करने वाले के मोबाइल पर लिंक पहुंचता है।

इस तरह स्मार्ट फोन पर उस लिंक के जरिए एंबुलेंस को ट्रेस कर सकते हैं। नोडल अधिकारी 108 व 102 एंबुलेंस सेवा डॉ राजेश गुप्ता ने बताया कि एंबुलेंस की ट्रैकिंग शुरू होने के बाद से देरी से पहुंचने की शिकायतें तकरीबन खत्म हो गईं हैं। कई बार एंबुलेंस जाम में फंसने से दिक्कत होती है। हैलट में एंबुलेंस को विलंब से छोडऩे की शिकायतें भी हैं। इसे दूर करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Show More
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned