आधी रात सड़क पर महिला IAS को देख मचा हड़कंप

आधी रात सड़क पर महिला IAS को देख मचा हड़कंप

Vinod Nigam | Publish: Jan, 12 2019 07:01:17 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

विशेष सचिव एवं निदेशक भू तत्व व खनिज डॉक्टर रोशन जैकब लॉव-लश्कर के साथ पहुंची कानपुर, हाईवे और नदियों के किनारे जाकर पकड़े अवैध खनन से भरे वाहन।

कानपुर। अवैध खनन मामले में सीबीआई की कार्रवाई के बाद अब शासन-प्रशासन ने भी इस पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इसी के तहत कानपुर के पूर्व डीएम रहीं व विशेष सचिव एवं निदेशक भू तत्व व खनिज डॉक्टर रोशन जैकब बिना अधिकारिक सूचना के सीधे शहर पहुंची। उन्होंने सीडीओ अक्षय त्रिपाठी, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट शशांक चौधरी व एसीएम 5 प्रेरणा सिंह के अलावा कई थानों की फोर्स को बुलाया। सभी अधिकारियों को मोबाइल स्वीच ऑफ करवा उन्हें चार टीमों में बांटकर हमीरपुर, बांदा, कानपुर देहात सहित अन्य जिलों से आ रहे ट्रकों और डम्फरों की चेकिंग शुरू कर दी। इस दौरान पचास से ज्यादा ट्रकों को पकड़ कर थाने भिजवाया गया।

खुद किया लीड
हमीरपुर व कानपुर में सीबीआई की रेड के बाद प्रदेश सरकार ने अवैध रूप से हो रहे खनन को रोकने के लिए खनन विभाग को आदेश दिया है। जिसके बाद विशेष सचिव एवम निदेशक भू तत्व व खनिज डॉक्टर रोशन जैकब देर रात कानपुर आईं। उन्होंने चार टीमों को बनाकर सड़क पर उतार दिया और खुद सागर-कानपुर हाईवे पर खड़ी हो गई। नौबस्ता के आगे रात करीब 2 बजे ौरंग लाद कर सागर राजमार्ग से गुजरने वाले ट्रकों व डंपरों की चेकिंग शुरू कराई। इस दौरान उन्होंने अकेले दो दर्जन ट्रकों को पकड़ा और मोरंग समेत थाने भिजवाया। भीषण ठंड होने के बावजूद वो करीब पांच घंटे तक हाईवे के साथ नदियों के किनारे जाकर वाहनों को पकड़ा। सुबह उन्होंने वापसी के दौरान घाटमपुर में चाय पी।

कोहना-नवाबगंज की पुलिस को बुलाया
विशेष सचिव ने अभियान की गोपनीयता बनाए रखने के हाईवे के आपपास के थानों के बजाए कोहना, नवाबगंज की थानों की फोर्स को बुलाया। साथ ही दो अन्य थानों की पुलिस भी इस कार्रवाई के दौरान मौजूद रही। । चेकिंग शुरू करने से पूर्व टीमों के सभी सदस्यों के मोबाइल फोन स्विच ऑफ करा कब्जे में ले लिए थे। बगैर रॉयल्टी वाले ओवरलोड ट्रकों की धरपकड़ शुरू होते ही अवैध मौरंग कारोबार के संरक्षक बने नेताओं की नींद उड़ गई। टीम में शामिल अफसरों के मोबाइल स्विच ऑफ मिलने के बाद कई नेताओं ने सीधे डॉक्टर रोशन जैकब को ही फोन मिला कर उनसे ट्रकों को छोड़े जाने की फरियाद की। लेकिन उन्होंने नेताओं को जमकर फटकार गलाते हुए फोन कट कर दिया।

कानपुर की रहीं हैं डीएम
डॉक्टर रोशन जैकब इससे पहले कानपुर की डीएम रही हैं। इसके चलते उन्हें घाटमपुर व सजेती क्षेत्र की भौगोलिक जानकारी है। वो रात में ही घाटमपुर चौराहे से अलियापुर टोल प्लाजा, सजेती, आनूपुर मोड़, दुर्गादेवी तिराहा से यमुना नदी पुल तक के नाकों पर खुद टीमों के साथ गई और वाहनों पर कर्रवाई की। अभियान में शामिल रहे सीओ शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि चेकिंग के दौरान पचास से अधिक ओवरलोड ट्रक व डंपर पकड़े गए है। इसमें कई के पास रॉयल्टी प्रपत्र भी नहीं मिले हैं। खनन निरीक्षक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned