मरीजों और तीमारदारों से गलत व्यवहार पर जूनियर डॉक्टरों का कॅरियर होगा खराब

मरीजों और तीमारदारों से गलत व्यवहार पर जूनियर डॉक्टरों का कॅरियर होगा खराब

Alok Pandey | Publish: Aug, 17 2019 02:25:08 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

हैलट के जूनियर डॉक्टरों की अराजकता पर नकेल कसने का निकाला रास्ता
दागी चिन्हित किए गए तो नहीं मिल सकेगी एमडी और एमस की डिग्री

कानपुर। हैलट में जूनियर डॉक्टरों की बढ़ती अराजकता पर नकेल कसने के लिए नया रास्ता निकाला गया है। अब अगर जूनियर डॉक्टरों ने मरीजों से गलत व्यवहार किया तो उनकी पीजी की डिग्री रोक दी जाएगी। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने जूनियर डॉक्टरों को अनुशासन में रखने को नया ताना बाना तैयार किया है। अब डिग्री के लिए उन्हें हैलट के प्रमुख अधीक्षक से एनओसी लेनी होगी। 10 अंक अलग से निर्धारित किए गए हैं।

गोपनीय रिपोर्ट होगी तैयार
हैलट अस्पताल में मरीजों के साथ हो रहे दुव्र्यहार के मामलों और जीएसवीएम की हो रही फजीहत को देखते हुए कॉलेज प्रशासन ने नया मसौदा तैयार किया है। अब जूनियर डॉक्टरों की गोपनीय रिपोर्ट प्रमुख अधीक्षक कार्यालय में तैयार होगी। अधिकारियों का कहना है कि हर महीने मरीजों को भगाने और मारपीट की बड़ी घटनाएं सामने आ रही हैं। प्रमुख अधीक्षक प्रो. आरके मौर्या का कहना है कि डिग्री के लिए अस्पताल में व्यवहार को लेकर एनओसी लेनी होगी। यह व्यवस्था कई बड़े संस्थानों में लागू है। इसे इसी वर्ष लागू करने पर विचार किया जा रहा है।

शिकायतों को लेकर गंभीर हुआ प्रशासन
जूनियर डॉक्टरों, मरीजों और तीमारदारों के बीच मारपीट की घटनाओं को वर्ष जनवरी 2018 से जुलाई 2019 तक 10 बड़े मामले हुए हैं। चार मामले सीनियरों और जूनियरों के बीच मारपीट और रैगिंग की शिकायतों को लेकर हैं। इन सभी मामलों में स्वरूपनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज है। एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि कुछ मामलों में जूनियर डॉक्टरों की गम्भीर गलती मिली है पर कॉलेज के हस्तक्षेप की वजह से कार्रवाई नहीं हो पाई। मामले थाने आते तो हैं पर पीडि़त पक्ष के बयान पर हाजिर नहीं होने से ठंडे पड़ जाते।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned