कानपुर की महापौर को मम्मी कहा और नाले में बैठकर लगाने लगा फरियाद

कानपुर की महापौर को मम्मी कहा और नाले में बैठकर लगाने लगा फरियाद

Alok Pandey | Publish: Jan, 12 2018 03:40:24 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

पप्पू के अंदाज में महापौर ने भी बेटा संबोधन के साथ भेजे संदेश में जल्द समस्या समाधान का वादा किया है।

कानपुर. मेरी मम्मी, फरियाद कब सुनोगी, नाला कब बनवाओगी। हम लोग परेशान हैं, लेकिन कोई सुनवाई करने को तैयार नहीं। यह गुहार है नाले के अंदर बैठे किदवई नगर के ओ-ब्लाक के एक नौजवान की। समस्या के लिए सिस्टम को कोसते हुए अनोखे अंदाज में अपना दर्द बयान करने वाले नौजवान का नाम है पप्पू बाबा। दरअसल, नाले के ऊपर स्लैब व नाला पक्का कराने की मांग को लेकर पहले पूरे इलाके में महापौर को मम्मी कहते हुए भ्रमण किया। इसके बाद नाले के अंदर धरने पर बैठ गया। करीब आधे घंटे के नाटक के बाद लोगों के समझाने पर पप्पू बाबा नाले से बाहर निकले।


प्रमिला पाण्डेय तक पहुंची गुहार

फिलहाल, कानपुर की महापौर सॉलिड वेस्ट सिस्टम का उन्नत मॉडल देखने के लिए बाहर गई हैं, लेकिन पप्पू बाबा की गुहार मेयर तक पहुंच गई है। पप्पू के अंदाज में महापौर ने भी बेटा संबोधन के साथ भेजे संदेश में जल्द समस्या समाधान का वादा किया है। इससे पहले जूही इलाके में पेट्रोल पंप के पास नाले के अंदर से जिंदाबाद-मुर्दाबाद की आवाज आने पर लोग चौंके। देखा तो अंदर एक नौजवान बैठकर नारेबाजी करने में जुटा था। पूछने पर हाथ में थामा पोस्टर दिखाता रहा, जिसमे महापौर को मम्मी संबोधन के साथ सवाल था कि नाला कब बनेगा मम्मी जी ?

 

ठंड के डर से बाहर आया पप्पू

पप्पू का तमाशा देखने के लिए क्षेत्रीय लोगों के साथ ही राहगीर भी जमा हो गए। पप्पू ने बताया कि करीब डेढ़ साल से वह नगर निगम अधिकारियों से नाला पक्का करने व स्लैब डलवाने की मांग कर रहा, लेकिन समाधान नहीं हुआ। आए दिन नाला चोक होने से सडक़ों पर गंदा पानी व सीवर बहता है, लेकिन किसी भी जिम्मेदार को दिखता नहीं। आज बिल्कुल निराश होकर वह नाले के अंदर बैठा कि शायद अब कोई उसके व पूरे इलाके के दर्द को समझ सके। करीब आधे घंटे तक पप्पू नाले में बैठकर नारेबाजी करता रहा। इलाकाई लोगों ने ठंड लगने का डर दिखाया तो वह समझाने के बाद बाहर निकला। पप्पू ने बताया कि यदि जल्द नाला पक्का नहीं बनाया गया तो वह नगर निगम मुख्यालय में धरने पर बैठेगा।

Ad Block is Banned