किसानों की राह में अनदेखी का रोड़ा

A hurdle in the path of farmersबायपास रोड की टूटी सडक़ दे रही हादसों को दावत-सुखदेवपुरा में सडक़ खोद भूले जिम्मेदार

By: Anil dattatrey

Updated: 30 Sep 2020, 12:17 AM IST

हिण्डौनसिटी. यूं तो करीब डेढ़ लाख की आबादी वाला हिण्डौन शहर जिले का सबसे बड़ा उपखंड है, लेकिन जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते यहां की सडक़ों की दशा दयनीय है। महवा रोड तिराहे से बायपास व क्यारदा खुर्द की पुलिया ने आरएसडब्ल्यूसी के गोदामों तक टूटी पड़ी सडक़ें हादसों को न्यौता दे रही है।

वहीं घनी आबादी क्षेत्र के सुखदेवपुरा में सीवरेज के लिए सडक़ की खुदाई कर जिम्मेदार अधिकारी भूल गए हैं। लोगों को कहना है कि कई बार पीडब्ल्यूडी के अभियंताओं से लेकर नगरपरिषद व सीवरेज कार्य करा रही कंपनी के अधिकारियों को समस्या से अवगत कराया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों की अनदेखी के कारण हिचकौले खाती सडक़ों पर हर पल मौत का साया मंडराता रहता है। पूरे शहर में दो-चार गिने-चुने मार्गों को छोड़ कर अधिकांश सडक़ बदहाल स्थिति में हैं। लोगों का कहना है कि बायपास पर कृषि उपज मंडी व आरएसडब्ल्यूसी के गोदामों तक जिंस के कट्टों से भरे ट्रक, ट्रेक्टर-ट्रॉली, जुगाड़ आदि वाहनों की दिनभर आवाजाही बनी रहती है। रास्ते में महवा रोड़ तिराहा व मूंडिया का पुरा के अलावा गोदामों के पास टूटी पड़ी सडक़ के कारण हुए कई हादसों में कई लोग दुर्घटनाग्रस्त भी हो चुके हैं। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी इस और ध्यान नहीं दे रहे हैं।

सुखदेव पुरा के बाशिंदों ने बताया कि करीब 15 दिन पहले सीवर लाइन के लिए दो स्थानों पर सडक़ की खुदाई की गई, लेकिन खुदाई करने के बाद कंपनी के अधिकारी गड्ढ़ों को भरना ही भूल गए। संकरी सडक़ के बीचों बीच बड़े-बड़े गड्ढ़ों की वजह से हरपल हादसे का भय बना रहता है।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned