उधारी को लेकर राजस्थान में यहां दो पक्षों में खूनी संघर्ष, धारदार हथियारों के हमले व फायरिंग में नौ घायल

उधारी को लेकर राजस्थान में यहां दो पक्षों में खूनी संघर्ष, धारदार हथियारों के हमले व फायरिंग में नौ घायल

Nidhi Mishra | Publish: Sep, 09 2018 07:03:32 PM (IST) Karauli, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

हिण्डौनसिटी/ करौली। बनकी गांव में उधार दिए रुपए मांगने को लेकर रविवार सुबह दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। धारदार हथियारों से हमले के साथ की गई फायरिंग में नौ जने घायल हो गए। परिजनों ने उन्हें राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां से पांच जनों को गंभीरावस्था में जयपुर रैफर किया है। सूचना पर पहुंची सदर थाना पुलिस ने घायलों के पर्चा बयान दर्ज किए। साथ ही मौके पर पहुंच लोगों से घटना के बारे में जानकारी ली।


पुलिस के अनुसार बनकी निवासी राजवीर जाट दूसरे पक्ष के रामफल जाटव के परिवार पर उधार दिए रुपयों का तकादा करने गया था। जहां दोनों पक्षों के बीच आपस में कहासुनी हो गई। राजवीर जब घर पहुंचा तो पीछे से दूसरे पक्ष के करीब एक दर्जन हथियारबंद लोग पहुंच गए। तथा उस पार धारिया, फरसा आदि से हमला कर दिया। इस पर राजवीर के परिवार के लोगों ने भी देशी कट्टे से फायरिंग कर दी। इससे एक जने के पेट में गोली लग गई। झगड़े में एक पक्ष के पांच व दूसरे पक्ष के चार जने घायल हुए हैं।


उधर, हिंडौन सिटी के सोमला गांव में दलित किशोरी से बलात्कार के बाद आरोपियों की ओर से दी जा रही धमकियों के चलते पीडि़ता का परिवार गांव से पलायन कर गया है। जबकि सूरौठ पुलिस आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। इससे क्षेत्र के दलितों में रोष व्याप्त है। शुक्रवार को चौबीसा क्षेत्र के जाटव समाज के लोगों ने ढिंढोरा गांव स्थित एक मूर्ति बस्ती में विरोध-प्रदर्शन किया। तथा पुलिस महानिदेशक को पत्र भेज कर आरोपी को गिरफ्तार करने तथा पीडि़त परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की।


समाज के अध्यक्ष राधाकृष्ण जाटव ने बताया कि एक सितम्बर की रात को गांव के गरीब दलित परिवार की १५ वर्षीय किशोरी के साथ वहीं के दबंग परिवार के युवक मोनू जाट ने बलात्कार किया। जिसकी प्राथमिकी पीडि़ता ने सूरौठ थाने में दर्ज कराई। इससे कुपित आरोपी व उसके परिवार ने पीडि़ता के परिवार पर राजीनामा के लिए दवाब बनाना शुरु किया। लेकिन राजीनामे से इनकार करने पर आरोपियों ने पीडि़ता व उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने बताया कि आरोपियों की धमकी से डरा-सहमा परिवार गांव से पलायन कर गया। फिलहाल पीडि़त परिवार दूसरे गांव में अपने रिश्तेदार के घर रह रहा है। महामंत्री पुरुषोत्तम बंशीवाल ने बताया कि अगर आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर पीडि़त परिवार को न्याय नहीं दिलाया तो जाटव समाज की ओर से आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान वार्ड पंच भगवानसिंह, राजकुमार, कुम्हेरसिंह, प्रतापसिंह, किशनसिंह समेत दर्जनों लोग मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned