हाडौती में बेलगाम बजरी खनन ,पुलिस पर चौथ वसूली के आरोप,दो पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

हाडौती में बेलगाम बजरी खनन ,पुलिस पर चौथ वसूली के आरोप,दो पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

Vinod Sharma | Updated: 12 Jun 2019, 09:56:25 PM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

haadautee mein belagaam bajaree khanan, pulis par chauth vasoolee ke aarop, do pulisakarmee lain "


करौली. सपोटरा इलाके में बनास नदी से बजरी का अवैध खनन बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। रोजाना सैकड़ों वाहनों से इस बजरी का परिवहन किया जाता है। रात में बजरी के वाहनों की ििनकासी होती है। आरोप है कि खनिज विभाग और पुलिस द्वारा लाखों रुपए की चौथ वसूली का खेल चल रहा है। इसके कारण बजरी की निकासी थम नहीं पाई है बल्कि बेलगाम हो गईहै।
बजरी के अवैध खनन और इसके लिएकी जाने वाली चौथवसूली को लेकर सरकारी बैठकों में कईबार उठा। आरोप लगे लेकिन हुआ कुछ नहीं। इतना ही नहीं कभी इन शिकायतों की जांच तक नहीं कराई गई। इस कारण बजरी खनन के अवैध धंधे में लिप्त लोगों की मौजां ही मौजां हो रही है।
सुप्रीम कोर्टके आदेश के बाद प्रदेश में बजरी खनन पर सरकार ने प्रतिबंध लगाया हुआ है। लेकिन करौली जिले के सपोटरा इलाके में बहने वाली बनास नदी के किनारे के गांवों में इस खनन पर कभी रोक नहीं लगी। अधिकारियों की कभी सख्ती से यह धंधा मंदा पड़ा तो कभी धडल्ले से चल निकला। फिलहाल तो यह अवैध धंधा परवान पर है और इसमें पुलिस की लिप्तता को लेकर आरोप लगाए जा रहे हैं।
सपोटरा के हाड़ौती इलाके में दर्जनों जेसीबी सहित अन्य संसाधन रात-दिन बनास नदी के सीने से बजरी खुदाई करते हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जेसीबी ने नदी में 20-20 मीटर गहराईतक खुदाई कर डाली है। अब तो इस कार्य में क्षेत्र के ग्रामीणों के साथ दूसरे जिलों के लोग भी उतर आए है। जिन्होंने हाड़ौती में ही डेरा डाल दिया है। इलाके में पनपे बजरी माफिया की पुलिस, राजस्व व खनिज विभाग से चल रही मिलीभगत के कारण कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति ही होती है।
पांच प्वाइंट, दो थानों के सामने से निकलती है बजरी
बजरी का खनन रोकने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी हाड़ौती पुलिस चौकी पर है। इसी चौकी की सामने से ही बजरी के सैकड़ों वाहन रोजाना निकलते है। इसके बाद गंगापुर सिटी-वजीरपुर जाने वाले बजरी से भरे वाहन बड़ौदा गजराज पाल, कुशालसिंह के प्वाइंट, नारौली डांग पुलिस चौकी के ठीक सामने से निकलते है। करौली की तरफ आने वाले वाहन रानेटा से सपोटरा मोड व कुडग़ांव थाना क्षेत्र से गुजरते हंै। अधिकांश तौर पर बजरी का परिवहन रात में होता है। पुलिस व खनिज विभाग के अधिकारी-कर्मचारी रात में गश्त के नाम पर इन वाहनों से चौथ वसूली करते रहते हैं।
आए दिन झगड़े
अवैध बजरी खनन के कारण सपोटरा क्षेत्र में लड़ाई -झगड़े भी बढ़े है। गत दिनों गश्त पर निकले सपोटरा पुलिस के जाप्ते से लोगों ने मारपीट कर दी थी।
आरोप है कि बजरी व अवैध वसूली से जुड़े लोगों ने ही पुलिस पर हमला किया था। इसी प्रकार आए दिन बजरी खनन व परिवहन करने वालों में आपस में भी झगड़ा होता रहता है। इस कारण क्षेत्र का माहौल भी खराब हो रहा है।
सख्त कार्रवाई भी करते है
बजरी खनन पर अंकुश लगाने की सही जिम्मेदारी खनिज विभाग की है। लेकिन पुलिस भी सख्त कार्रवाई कर रही है। दो दिन पहले ही हाड़ौती पुलिस चौकी के दो पुलिसकर्मियों की शिकायत मिली, जिन्हें लाइन भेज दिया है। चोरी के गलियारों से वाहन निकलते हैं जिनको बंद करा रहे हैं।
मुंशीलाल मीना पुलिस उपअधीक्षक कैलादेवी
गश्त कर रहे है
बजरी खनन पर रोक लगाने के लिए गश्त लगातार कर रहे हैं। जाप्ता मिल गया है अब और सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।
धर्मसिंह खनि अभियंता करौली

केएल, सीई। सपोटरा क्षेत्र में बजरी लेकर निकलते ट्रैक्टर-ट्रॉली

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned