प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा की मौत, 20 घंटे बाद हुआ पोस्टमार्टम

Mother-child dies after delivery, post-mortem 20 hours later. The family stayed in the nursing home with the dead body till midnight .

By: Anil dattatrey

Published: 26 Nov 2020, 10:29 PM IST


हिण्डौनसिटी. शहर के एक निजी नर्सिंग होम में प्रसव के बाद जच्चा और बच्चा की मौत के मामले में 20 घंटे बाद गुरुवार दोपहर मृतका के शव का पोस्टमार्टम हुआ। समझाइश के बाद रजामंद होने पर कोतवाली थाना पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया। मृतका बमनपुरा गांव निवासी हेमा (30) पत्नी प्रेमसिंह जाटव है। मामले में मृतका के पति ने नर्सिंगहोम संचालक के खिलाफ उपचार में लापरवाही बरतने से से महिला की मौत होने के आरोप की प्राथमिकी दर्ज कराई है।


पुलिस के अनुसार वमनपुरा गांव निवासी प्रेमसिंह जाटव ने प्राथमिकी में बताया कि बुधवार तडके वह पत्नी हेमा को प्रसव के लिए शीतला चौराहा के पास स्थिति नर्सिंग होम में लाया था। प्रसव के दौरान सुबह नवजात शिशु का मृत्यु हो गई। कुछ घंटे बाद प्रसूता की भी मृत्यु हो गई। पहले नवजात और बाद में प्रसूता की मौत होने परिजन गुस्सा गए। मामले में मृतका के पति की ओर से प्राथमिकी दर्ज होने पर पुलिस शीतल चौराहा के पास स्थित नर्सिंग होम पहुंच गई। लेकिन परिजन प्रसूता को शव को नर्सिंग होम से उठाने को तैयार नहीं हुए। ऐसे में देर रात के शव वार्ड के पलंग रखा रहा।

परिजनों के शव नहीं उठाने पर अडने पर कोतवाली थाना प्रभारी हेमेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंच गए। लेकिन परिजन रजामंद नहीं हुए। काफी प्रयास के बाद रात करीब साढ़े 11 बजे बाद मामले में आगामी कार्रवाई के लिए शव को राजकीय चिकित्सालय की मोर्चरी में पहुंचाने को तैयार हुए। गुरुवार सुबह पुलिस पोस्टमार्टम की कार्रवाई के लिए राजकीय चिकित्सालय पहुंची तो परिजन फिर से मुकर गए। वहीं गांव से ग्रामीणों के आने से मोर्चरी के पास भीड़ जमा हो गई। ऐेसे कोतवाली थाना प्रभारी हेमेंद्र सिंह, सदर थाना प्र्रभारी कृपालसिंह मय जाप्ता के राजकीय चिकित्सालय पहुंचे और पीडि़त पक्ष की समझाइश की। इस दोपहर करीब 2 बजे मेडिकल बोर्ड से मृतका का पोस्टमार्टम कराया गया।


छह बेटियों पर हुआ था पुत्र
मृतका के पति प्रेमसिंह ने बताया कि गर्भकाल के दौरान उसने पत्नी का उपचार नर्सिंग होम में ही कराया। सीजेरियन प्रसव से पत्नी ने पुत्र को जन्म दिया था। छह बेटियों के बाद पुत्र के जन्म से परिजनों में खुशी छा गई, लेकिन कुछ घंटे बाद नवजात की मौत हो गई।परिजनों कहना है कि महिला का यह छठवां प्रसव था। इससे पूर्व दो जुड़वा सहित छह पुत्रियां हैं।

हंगामे की आशंका में पुलिस रही तैनात-
पहले बच्चा और फिर प्रसूता की मौत के मामले में हंगामे की आशंका में देर रात तक पुलिस नर्सिंगहोम पर तैनात रही। इस दौरान परिजन उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगा नर्सिंगहोम कर्मियों को कोसते रहे। कोतवाली थाना प्रभारी हेमेंद्रसिंह, एएसआई पृथ्वीसिंह, सहित कई सहायक उपनिरीक्षक शव के मोर्चरी में पहुंचाने तक नर्सिंग होम पर डटे रहे।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned