दो दिन बाद खुले बाजार तो फिर हुई भीड़

दो दिन बाद खुले बाजार तो फिर हुई भीड़
लोग भीड़ में आने को लेकर बेपरवाह
करौली। दो दिन के वीकेण्ड कफ्र्यू के बाद सोमवार सुबह बाजार खुलने पर भीड़ भरा माहौल रहा। बाजार खुलने का समय सुबह के 4 घंटे ही निर्धारित होने के कारण लोग सुबह ही एक साथ बाजार में आ गए। इससे अनाज मण्डी, बूरे बताशा बाजार, चौधरी पाड़ा, सब्जी मण्डी तथा हॉस्पीटल मार्ग में जाम जैसी स्थिति बन गई। ऐसे में कोरोना गाइड लाइन के अनुसार सोश्यल डिस्टेंस की पालना होती नजर नहीं आई।

By: Surendra

Published: 03 May 2021, 08:25 PM IST

दो दिन बाद खुले बाजार तो फिर हुई भीड़
लोग भीड़ में आने को लेकर बेपरवाह
करौली। दो दिन के वीकेण्ड कफ्र्यू के बाद सोमवार सुबह बाजार खुलने पर भीड़ भरा माहौल रहा। बाजार खुलने का समय सुबह के 4 घंटे ही निर्धारित होने के कारण लोग सुबह ही एक साथ बाजार में आ गए। इससे अनाज मण्डी, बूरे बताशा बाजार, चौधरी पाड़ा, सब्जी मण्डी तथा हॉस्पीटल मार्ग में जाम जैसी स्थिति बन गई। ऐसे में कोरोना गाइड लाइन के अनुसार सोश्यल डिस्टेंस की पालना होती नजर नहीं आई।
भीड़ का कारण दो दिन की छुट्टी के बाद बाजार का खुलना और आगामी दिनों में विवाह आयोजनों की अधिकता को बताया जा रहा है। चूंकि करौली के बाजार संकरे हैं। ऐसे में अधिक लोगों के आने पर जल्दी भीड़ के हालात बनकर जाम की स्थिति बन जाती है।
परकोटे में प्रवेश पर पुलिस-प्रशासन की सख्ती के बावजूद हालत यह है कि लोग बाजार में एक साथ आ रहे हैं और भीड़ के बीच भी खरीद करने से भी नहीं कतरा रहे हैं। सुबह के समय सरकार की ओर से जिन दुकानों के खोला जाना प्रतिबंधित हैं वे दुकानें भी चोरी छुपे खोली जा रही है। निर्धारित समयावधि 11 बजे बाद फिर दिनभर बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। असल में बाजार खुले होने के दौरान पुलिस पूरी तरह से गायब नजर आती है। जानकारों का कहना है कि बाजार खुलने की समयावधि में बाजार में पुलिस की गश्त लगातार बनी रहे तो अनावश्यक लोगों की आवाजाही और भीड़ में कमी आ सकती है।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned