माघी पूर्णिमा पर बड़ा हादसा, कासगंज में स्नान के दौरान पांच लोग डूबे, 2 लापता 3 को बचाया गया

  • सीएम योगी ने राहत कार्य में तेजी का दिया निर्देश

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कासगंज. माघी पूर्णिमा के मौके पर यूपी कासगंज जिले में स्नान के दौरान पांच लोग डूबने लगे। इनमें से किसी तरह पुलिस ने गोताखोरों की मदद से तीन लोगों को तो बचा लिया, जबकि दो लोग लापता हैं। दर्दनाक हादसे से हड़कम्प मच गया। दोनों लापता रिश्ते में सगे मामा-भांजे थे। उनको खोजने के लिये रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है। इस हादसे के बाद सीएम योगी ने अधिकारियों को रेस्क्यू ऑपरेशन तेजल से चलाने और पीड़ितों की सहायता करने का निर्देश दिया।


माघी पूर्णिमा के मौके पर शनिवार को सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के कादरगंज गंगा घाट पर श्रद्घालुओं की सुबह से ही भारी भीड़ थी। लोग स्नान कर रहे थे इसी दौरान अचानक कुछ युवकों की नजर पांच लोगों पर पड़ी जो डूब रहे थे। तत्काल उन्हें बचाने के लिये कई लोग पानी में कूद गए। उनका रेस्क्यू शुरू हुआ तो किसी तरह पांच में से तीन लोगों को तो बाहर निकाल लिया गया। लेकिन दो लोग काफी तलाश के बाद भी नहीं मिले।

 

 

दोनों लापता बढ़ौल गांव निवासी गोविंद और अनुज बताए गए हैं, जो आपस में सगे मामा-भांजे कहे जा रहे हैं। दोनों को खोजने के लिये पुलिस ने वृहत रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया, पर दोनों का पता नहीं लगाया जा सका। उधर घटना के बारे में जानकारी होने पर सीएम योगी ने भी इसपर दुख जताया। उन्होंने इसका संज्ञान लेते हुए डीएम-एसपी को मौके पर पहुंचकर राहत कार्य तेजी से कराने का निर्देश दिया। पीड़ितों की मदद की बात भी कही।


उधर एक और घटना में शहवाजपुर गंगा घाट पर कलश विसर्जन करने के दौरान भी तीन लोग डूबने लगे। इनके नाम खिजरपुर निवसी वीरेश, प्रशांत और सूरजपाल बताए गए हैं। तत्काल इनका बचाव कार्य शुरू हुआ और गोताखोरों ने किसी तरह से भूपेन्द्र और वीरेश को बचा लिया, पर प्रशांत (18) लापता है। एसपी मनोज सोनकर ने मीडिया को बताया कि लापता लोगों को खोजने के लिये रेस्क्यू टीम लगातार कोशिश कर रही है।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned