1901 से 2020 के बीच सिर्फ 4 बार ही फरवरी माह में औसत बारिश 23 एमएम का आंकड़ा पार, सबसे अधिक बारिश 1907 में 114.9 एमएम हुई थी दर्ज

-118 साल बाद 11 फरवरी को दिन का तापमान रहा सबसे कम 6.4 डिग्री, अधिकतम 20 फरवरी को पहुंचा था 32.2 डिग्री सेल्सियश

 

By: dharmendra pandey

Published: 23 Feb 2020, 11:40 AM IST

कटनी. फरवरी माह से गुलाबी ठंड का अहसास लोगों को होने लगता है। जिसमें दिन गर्म व रातें सर्द होती हैं। 118 वर्ष बाद इस बार फरवरी सबसे ठंडी रही है। वर्षों बाद 11 फरवरी को पहली बार 6.4 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया था। दूसरी ओर फरवरी माह में जिले में बारिश का आंकड़ा औसत 23 मिमी. होना चाहिए लेकिन वर्ष 1901 से लेकर 2020 के बीच चार बार ही बारिश औसत का आंकड़ा पार कर पाई है। इतने वर्षों के बीच में वर्ष 1907 में ही फरवरी में सबसे अधिक बारिश हुई थी। जिसमें आंकड़ा 114 मिमी. को पार कर गया था। इसके बाद 2013 में 67 एमएम, 1960 में 60 एमएम और 2011 में 57 एमएम बारिश दर्ज की गई थी।
पहली बार कम स्तर पर पहुंचा तापमान
1901 से 22 फरवरी 2020 के बीच दिन और रात के तापमान में 11 फरवरी 2020 को रात का तापमान पहली बार सबसे कम स्तर पर पहुंचा था। यह 6.4 डिग्री दर्ज किया गया। दिन का तापमान 118 वर्ष की अवधि में पहली बार 20 फरवरी 2020 को सबसे अधिक 32.2 डिग्री दर्ज किया गया है। इससे पहले साल 1966 में फरवरी माह में दिन का तापमान 30.7 डिग्री तक पहुंचा था जबकि वर्ष 1905 में रात का तापमान सबसे कम 8.4 डिग्री रहा।
मौसम नहीं हुआ साफ तो कीटव्याधि का खतरा
शुक्रवार देरशाम हुई अचानक से बारिश के बाद शनिवार को मौसम साफ नहीं हुआ। दिनभर आसमान में बादल छाए रहे। मौसम गर्म बना रहा है। मौसम विभाग की मानें तो लगभग दो दिन तक मौसम ऐसा ही रहने के आसार है। कृषि वैज्ञानिक डॉ. आरपी बेन के अनुसार यदि मौसम दो-तीन दिन इसी तरह बना रहता है तो चना की फसल में इल्ली का प्रकोप बढऩे की आशंका है। उनका कहना है कि जिन स्थानों पर ओलावृष्टि नहीं हुई है, वहां बारिश से गेहूं, अरहर, सरसों आदि को फिलहाल कोई नुकसान नहीं होगा।

यह है पिछले 7 दिन का दिन और रात का तामपान
तारीख दिन तापमान रात का तापमान
16 फरवरी 29.2 डिग्री 8.8 डिग्री
17 फरवरी 28.08 डिग्री 7.03 डिग्री
18 फरवरी 29. 08 डिग्री 7.09 डिग्री
19 फरवरी 31.02 डिग्री 9.01 डिग्री
20 फरवरी 32.02 डिग्री 12.4 डिग्री
21 फरवरी 28 डिग्री 17 डिग्री
22 फरवरी 27 डिग्री 15 डिग्री

जिले में 12 साल की बारिश का यह रहा आंकड़ा
-2008-09 में फरवरी माह में एक भी दिन बारिश नहीं हुई।
-9.8 एमएम बारिश हुई साल 2010 में।
-51 एमएम बारिश हुई साल 2011 में। इसमें रीठी और बड़वारा ब्लॉक में तेज बारिश हुई थी, जबकि विजयराघवगढ़ और बहोरीबंद में बारिश हुई ही नहीं। इसके बावजूद फरवरी माह में औसत बारिश का आकाड़ा पार हो गया था।
-2012 में बारिश हुई ही नहीं।
-67 एमएम बारिश साल 2013 में हुई। -
-14 एमएम बारिश 2014 में।
-2 एमएम बारिश 2015 में।
-06 एमएम बारिश 2016 में।
-1.1 एमएम बारिश 2017 में।
-06 एमएम बारिश 2018 में।
-08 एमएम बारिश 2019 में।
-4.7 एमएम बारिश साल 2020 फरवरी में आज दिन तक की दर्ज की गई है।

नोट-बारिश और तापमान के सारे आंकड़े कृषि विज्ञान केंद्र पिपरौध से लिए गए हैं।

-जिले में फरवरी माह में औसत 23 एमएम होनी चाहिए थे, लेकिन सिर्फ 4 बार ही बारिश यह आंकड़ा पार कर पाई है। इसके अलावा जिले में 1901 के बाद से 11 फरवरी को न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियश पहुंचा था, जबकि अधिकतम तापमान 20 फरवरी 2020 को रहा 32.2 डिग्री सेल्सियश दर्ज किया गया था।

संदीप कुमार चंद्रवंशी, मौसम वैज्ञानिक, कटनी।

Show More
dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned