शक्तियां दिखा रहीं साहस: जान की परवाह किये बगैर लोगों को कोविड महामारी से बचाने कर रही जागरुक

राष्ट्रीय सेवा योजना की छात्राएं वालेंटियर के रूप में निभा रहीं सक्रिय भूमिका

By: balmeek pandey

Updated: 16 Apr 2021, 09:39 PM IST

कटनी. संकट की घड़ी में शक्तियां याने की शहर व जिले की बेटियां सशक्त भूमिका निभा रही हैं। संकट के दौर में अपनी जान की परवाह न करते हुए लोगों को कोविड महामारी से बचाने के लिए सेवाएं दे रही हैं। विगत 5 दिवसों से राष्ट्रीय सेवा योजना कटनी जिले के स्वयसेवकों के द्वारा विश्व व्यापक महामारी कोरोना के प्रति जागरुकता लाने के उद्देश्य से रोको-टोको अभियान, रोड पेंटिंग, नारा लेखन का कार्य किया जा रहा हैं, इसमें शासकीय तिलक महाविद्यालय, शासकीय कन्या महाविद्यालय, शासकीय बरही महाविद्यालय, उमरिया पान महाविद्यालय, सिलौड़ी महाविद्यालय, शासकीय ढीमरखेड़ा महाविद्यालय, विजयराघवगढ़ इकाई, कैमोर इकाई के स्वयंसेवक अपनी भागीदारी दर्ज करा रही हैं। इसके साथ ही प्रतिदिन कटनी जिले के शासकीय तिलक महाविद्यालय और शासकीय कन्या महाविद्यालय, ढीमरखेड़ा इकाई के स्वयंसेवकों के द्वारा स्टेशन पर अलग-अलग शिफ्ट में लगातार यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग, मास्क के लिए जागरुक करने का कार्य कर रही हैं।

ये दिखा रहीं साहस
इस सेवा प्रकल्प में बेटियों के साथ युवक की साथ दे रहे हैं। अंकिता श्रीवास्तव, अंजली पटेल, गायत्री बर्मन, खुशी मिश्रा, प्रांजली शुक्ला, वंदना, कामिनी रजक, आयुषी, ज्योति, संगीता बर्मन, पूनम रजक सक्रिय भूमिका निभा रही हैं। इसमें हेमंत गुप्ता, प्रखर, आकाश दुबे, पंकज गौतम, सृजन सोनी, सौरभ प्यासी, विकास, संजय मौर्य, अभिजीत, अभिनंदन, आशुतोष, संजय मौर्य, अभिजीत पांडेय सहित अन्य स्वयंसेवकों सेवा दे रहे हैं। साथ ही स्वयंसेवकों के द्वारा टीका उत्सव के तहत कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर में जाकर लगातार सेवा दी जा रही है। नरेंद्र कुशवाहा, आशुतोष गुप्ता, देवनाथ रजक, पूनम सिंह, खुशी, प्रहलाद कुशवाहा, मोहिनी, सत्येन्द्र,शिवानी, वेंकटेश्वर हर दिन सेंटर में सेवा कार्य कर रहे हैं।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned