कोरोना का कहरः MP के इस जिले में मौत का आंकड़ा बढ़ने से आमजन में भय

- लगातार दूसरे दिन हुई मौत से सकते में नागरिक व प्रशासन

By: Ajay Chaturvedi

Published: 27 Aug 2020, 11:43 AM IST

कटनी. जिले में कोरोना का कहर लगातार तेज होता जा रहा है। संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि के साथ अब सबसे बड़ी चिंता मौत को लेकर होने लगी है। जिले में अब तक कुल 9 मौत हुई है। लेकिन जिस तरह से हाल के दो दिनों में लगातार मौत की सूचना आई है उससे जिले नागरिकों का चिंतित होना लाजमी भी है।

जानकारी के मुताबिक बहोरीबंद तहसील के ग्राम बरखेड़ा भरदा निवासी 40 वर्षीय युवक ने जबलपुर में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। युवक 14 अगस्त को पॉजिटिव हुआ था और तबियत खराब होने के बाद उसे जबलपुर रेफर किया गया था, जहां उसकी मौत हो गई है।

कोरोना से अब तक हुई मौत
- 15 जून को हुई थी पहली मौत, जब मेडिकल कॉलेज में इलाज करा रहे प्रदेश कांग्रेस सचिव ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था।
-20 जून को एक अन्य कांग्रेस नेता की मेडिकल कालेज में मौत हो गई थी।
-3 जुलाई को एक महिला की मौत हो गई।
-3 अगस्त को माधवनगर निवासी एक बुजुर्ग ने इंदौर में दम तोड़ दिया था।
-5 अगस्त को माधवनगर के बांग्ला लाइन निवासी एक महिला ने जबलपुर मेडीकल कॉलेज में दम तोड़ दिया।
-20 अगस्त को बरही निवासी एक 49 वर्षीय महिला ने दम तोड़ दिया था।
-23 अगस्त को विजयराघवगढ़ क्षेत्र के पड़वई गांव के एक 65 वर्षीय बुजुर्ग ने जबलपुर के मेडीकल में दम तोड़ दिया था।

कटनी में कोरोना संक्रमण के 9 नए मामले सामने आए हैं। इनमे 4 शहर और 5 ग्रामीण क्षेत्र के हैं।जानकारी के मुताबिक आज 320 सेंपल की रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को मिली थी। इसमे 9 लोग पॉजिटिव हुए हैं। इनमे वार्ड नंबर 5 विजयराघवगढ़ निवासी 62 वर्षीय पुरुष, विलायत कला बड़वारा निवासी 20 साल की युवती, रामगढ़ बड़वारा निवासी 60 वर्षीय पुरुष, वसुधा ग्राम रीठी निवासी 50 वर्षीय पुरुष, सलैया सिहोरा बरही निवासी 24 वर्षीय पुरुष हैं। शहर के सीएलपी वार्ड के निवासी 14 वर्षीय व 12 वर्षीय बालिकाएं, 21 वर्षीय युवक व 26 वर्षीय युवती शामिल हैं। इसके अलावा जबलपुर में भर्ती एक व्यक्ति की रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को मिली है। इस तरह अब जिले में कुल संक्रमित मरीज 427 हो गए हैं।

हालांकि जिले में कोरोना संक्रमण फैलने के लिए नागरिक भी कम जिम्मेदार नहीं। बहुतेरे ऐसे लोग मिलेंगे जो तमाम सख्ती के बावजूद मास्क तक नहीं लगा रहे हैं। हालांकि जिले में बढ़ते कोरोना मामलों के चलते पुलिस व प्रशासन सक्रिय है, लेकिन आम लोगों में मास्क व देह की दूरी को लेकर जागरूकता की कमी देखी जा रही है। इससे प्रशासन को संक्रमण बढ़ने से रोकने में भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। जिले में जैसे-जैसे कोरोना का कहर बढ़ रहा है। उसी तरह नागरिक नियमों के प्रति लापरवाह होते नजर आने लगे हैं। प्रशासन ने तो सभी के लिए नियमों में ढील दी है लेकिन इसके साथ कुछ नियम बनाए हैं कि लोग शारीरिक दूरी का पालन करें और मास्क का इस्तेमाल करें।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned