इस जिले के अफसरों की बेपरवाही से बसों में महिलाओं के साथ हुई छेड़छाड़ तो ढूंढे नहीं मिलेंगे सबूत

महिलाओं की सुरक्षा को लेकर यात्री वाहनों में मुख्यमंत्री ने दिए थे सीसीटीवी कैमरे व जीपीएस सिस्टम लगवाने परिवहन विभाग को आदेश

By: dharmendra pandey

Published: 04 Jan 2018, 09:34 AM IST

कटनी. यात्री वाहनों में महिलाओं व लड़कियों के साथ छेड़छाड़ जैसी घटनाएं सामने आ रहीं है। यात्री वाहनों में सफर कर रहीं महिलाएं अपने आपकों सुरक्षित महसूस कर सकें। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी प्रकार के यात्री वाहनों में सीसीटीवी कैमरे व जीपीएस सिस्टम लगवाने अफसरों को आदेश दिए थे, लेकिन सीएम के इस आदेश का जिले के अफसरों पर कोई असर नहीं पड़ा। स्थिति यह है कि डेढ़ माह बाद भी किसी भी यात्री वाहन में न तो सीसीटीवी कैमरा लगा है। न ही जीपीएस सिस्टम। जानकारी के मुताबिक जिले से लगभग ११० यात्री बसें संचालित होती है। इनमें अधिकांश बसें ग्रामीण क्षेत्रों से चलकर शहर आती है। कुछ बसें शहर से दूसरे जिलो में भी जाती है, लेकिन जिले से संचालित होने वाली एक भी बस में अभी तक सीसीटीवी कैमरा व जीपीएस सिस्टम नहीं लगा है।

यह होता फायदा:
यात्री वाहनों में सीसीटीवी कैमरा व जीपीएस सिस्टम लगाने मुख्यमंत्री के दिए गए आदेश का जिला प्रशासन व परिवहन विभाग का अमला पालन करा लेता है तो सफर के दौरान छेड़छाड़ की घटना का शिकार होने वाली महिलाओं को सुरक्षा मिल जाएगी। कैमरा लगा होने की वजह घटना कैमरे में कैद हो जाती। जीपीएस सिस्टम से घटना किस जगह पर घटी है उसके लोकेशन का भी पता चल जाएगा।

इनका कहना है
सभी प्रकार में यात्री वाहनों में सीसीटीवी कैमरा व जीपीएस सिस्टम लगवाने विभाग से निर्देश मिले है। जल्द ही यात्री वाहनों में कैमरा व जीपीएस सिस्टम लगवाया जाएगा। इसके लिए वाहनों की जांच भी की जाएगी।

एमडी मिश्रा, एआरटीओ।
.......................................


नेक परीक्षण के लिए पहले चरण में पास हुआ तिलक कॉलेज
दूसरे चरण के लिए खुली लिंक
कटनी. नेक परीक्षण के लिए शासकीय तिलक कॉलेज की ऑनलाइन रिपोर्ट आईआईक्यूए में शामिल हो गई है। यानि कॉलेज ने परीक्षण के लिए पहले चरण में पास हो गया है।अब कॉलेज प्रबंधन को दूसरा व तीसरा चरण पार करना बाकी है। प्राध्यापक डॉ. चित्रा प्रभात ने बताया कि कॉलेज में पांच साल तक होने वाली विभिन्न गतिविधियों की रिपोर्ट भेजी जा चुकी है। ऑनलाइन रिपोर्ट भेजने वाला शासकीय तिलक कॉलेज संभाग का पहला कॉलेज बना है। उन्होंने बताया कि नेक द्वारा नई प्रणाली से कॉलेजों का मूल्यांकन करेगा।
....................................

 

 

Patrika
dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned