जंगल के बीच बसा गांव, वनोपज से जीवन यापन, लेकिल वाशिंदे समस्याओं के आगे विवश

जर्जर सड़क से आवागमन की आदिवासियों को मजबूरी, पेयजल की भी है गंभीर समस्या, बहोरीबंद क्षेत्र के ग्राम निपनिया में ग्रामीण परेशान, पंचायत ध्यान दे रही है प्रशासन

By: balmeek pandey

Published: 20 Feb 2021, 09:24 PM IST

कटनी. मुख्यालय बहोरीबंद से 15 किलोमीटर की दूरी पर जंगल के बीचोबीच ग्राम निपनिया जहां पर जनजाति गोंड़ जाति के लोग निवास करते हैं। यहां के लोगों की आय का मुख्य स्रोत कृषि और वनोपज है। बेल, चार, हर्र बहेरा, गाद, महुआ, तेंदूपत्ता, से भी यहां के लोग आय प्राप्त करते हैं और जीवकोपार्जन कर रहे हैं। यहां के रहवासी पिछले कई वर्षों से मूलभूत सुविधाओं के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि शासन-प्रशासन द्वारा विकास के दावे और वादे तो खूब किए जा रहे हैं, लेकिन गांवों की स्थिति अभी भी बदहाल है। तस्वीरें हैं कि बदलने का नाम नहीं ले रहीं, इन सबके पीछे प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी है।
ग्रामीण नवल सिंह, नरेश सिंह, प्रदीप सिंह, किताब सिंह, गणेश सिंह, चैना बाई आदि ने बताया की गांव की प्रमुख समस्या सड़क है। दस वर्ष पहले मुख्यमंत्री सड़क बनी थी, जो अब उखड़ चुकी है। केवल पैदल और दो-पहिरया वाहन ही निकल पाते हैं। बड़े वाहन नहीं निकल पाते। शादी-व्याह में बारात के लिए न ही बस आ सकती है और ना ही जा सकती। इतना ही नहीं गांव में अन्य कांई कृषि वाहन, एंबुलेंस आदि के आवागमन में भी परेशानी होती है। ग्रामीणों ने कहा कि गांव में पक्की सड़क का निर्माण हो तो राहत मिले।

ग्राम-निपनिया
ग्राम पंचायत-जुझारी
आबादी-2804
तहसील-बहोरीबंद
जिला-कटनी

पेयजल की भी समस्या
ग्रामीणों ने बताया कि गांव में पीने के पानी की भी बहुत समस्या है। केवल दो ही हैंडपंप हैं। एक में पाइप की कमी है। काफी मशक्कत के बाद पेयजल मुहैया हो पा रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि ग्राम पंचायत द्वारा भी ग्रामीणों की समस्या के समाधान में विशेष रुचि नहीं दिखाई जा रही। 22 लोग ऐसें है जो कई सालों से वन भूमि में खेती करते हैं, उन्हें पट्टे मिलने थे, लेकिन अभी तक नहीं मिले। यहां की भौगोलिक स्थिति ऐसी है की यह गांव बाहोरीबन्द तहसील में आता है आधा वन परिक्षेत्र रीठी तहसील में आता है। यहां से 6 किलोमीटर दूर जंगल के रास्ते सूखा नैगवां है। रीठी तहसील में पड़ता। आठवीं के बाद की पढ़ाई बच्चे वहां पढऩे जाते हैं।

इनका कहना है
बाहोरीबन्द विकास खण्ड की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की कार्ययोजना में अभी तक निपनिया का नाम नहीं जोड़ा गया है। ग्रामीणों की समस्या समाधान के लिए आवश्यक पहल की जाएगी।
नवीन श्रीवास्तव, उपयंत्री प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना बहोरीबन्द।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned