80 लाख खर्च के बाद भी खेलने काबिल न हो सका मैदान, खिलाड़ियो में गुस्सा

-खिलाड़ियों ने अदालत जाने की दी धमकी

By: Ajay Chaturvedi

Published: 30 Aug 2020, 03:52 PM IST

कटनी. छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से खेल मैदान के निर्माण कराया जा रहा। लक्ष्य है कि देश का हर बच्चा पढ़ाई के साथ खेल में भी रुचि ले। सरकार का मानना है कि खेल से शरीर स्वस्थ होगा और स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मानसिक संरचना होगी। इससे हर युवा का व्यक्तित्व विकास होगा। इसी उद्देश्य से 80 लाख की लागत से विजयराघवगढ़ के बंजारी में खेल मैदान स्वीकृत किया गया था। लेकिन यह मैदान भी अनियमितताओं की भेंट चढ़ गया। इससे युवाओं, खिलाड़ियों में आक्रोश है और उन्होंने अदालत का दरवाजा खटखटाने की धमकी दी है।

रोहित कुमार, अनंत कुमार, रामकुमार आदि का आरोप है कि नया खेल मैदान जर्जर हालत में है और इसके लिए अधिकारीयों की लापरवाही जिम्मेदार है। निर्माण एजेंसी ने जैसे-तैसे लापरवाही पूर्वक खेल मैदान तो बना दिया पर उसे खेल विभाग को सुपुर्द करने की बजाय जिला पंचायत विजयराघवगढ़ को सुपुर्द कर काम की इतिश्री कर दी।

अब जिला पंचायत विजयराघवगढ़, खेल मैदान पर खुद कब्जा जमाए बैठा है। आलम यह है कि खेल मैदान नशेड़ियों का अड्डा बन गया है। युवाओं ने बताया कि ग्राम पंचायत बंजारी के सरपंच सुशील साहू ने खुद की लागत से मैदान का समतलीकरण कराया। बावजूद इसके खेल मैदान युवा खिलाड़ियों के खेलने योग्य नहीं बन सका। युवाओं ने खेल मैदान की दुर्दशा के लिए विजयराघवगढ़ जिला पंचायत को दोषी मानते हुए सूचना के अधिकार के तहत रिपोर्ट मांगी है। युवाओं का कहना है कि प्रशासन अगर कोई कार्रवाई नहीं करता तो वे अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned