50 हजार विद्यार्थियों की होगी काउंसलिंग, रुचि व क्षमता अनुसार होगा विषय चयन, हो रही यह पहल

जिले के सभी हाइस्कूल में अध्ययनरत 50 हजार विद्यार्थियों की स्कूल में प्रवेश के समय काउंसलिंग कराई जाएगी। काउंसलिंग के बाद रुचि और बौद्धिक, तार्किक, स्थानिक आदि क्षमताओं के आधार पर विद्यार्थी रुचि के अनुसार विषयों का चयन कर पाएगा। इसको लेकर गुरुवार को 800 प्राचार्यों का ऑनलाइन प्रशिक्षण हुआ।

By: balmeek pandey

Published: 22 Jul 2020, 11:17 AM IST

कटनी. जिले के सभी हाइस्कूल में अध्ययनरत 50 हजार विद्यार्थियों की स्कूल में प्रवेश के समय काउंसलिंग कराई जाएगी। काउंसलिंग के बाद रुचि और बौद्धिक, तार्किक, स्थानिक आदि क्षमताओं के आधार पर विद्यार्थी रुचि के अनुसार विषयों का चयन कर पाएगा। इसको लेकर गुरुवार को 800 प्राचार्यों का ऑनलाइन प्रशिक्षण हुआ। जानकारी अनुसार समस्त हाइस्कूल व हॉयर सेकंडरी विद्यालयों के कक्षा 11वीं में प्रवेश के लिए विषय चयन के लिए विद्यार्थियों की कैरियर काउंसलिंग के लिए चर्चा की गई। दो घंटे तक चले बैठक प्रशिक्षण में प्राचार्यों को बारीकी से बताया गया कि कैसे बच्चों की काउंसलिंग की जानी है। इसके लिए राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान कटनी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई। बता दें कि जनवरी माह में अभिरुचि व अभिक्षमता परीक्षण किया गया था। उसमें प्रत्येक विद्यार्थी की रिपोर्ट ऑनलाइन तैयार हो गई है। विद्यार्थियों ने इसके लिए एमपी कैरियर मित्र एप पर इन्ट्रेस्ट, एप्टीट्यूट टेस्ट दिया था। नामांकन के अनुसार रिपोर्ट कार्ड खुल रहा है। खास बात यह है कि शिक्षा विभाग के एमपी स्पायर पोर्टल के माध्यम से विद्यार्थी घर बैठे ही कॅरियर व कोर्स संबंधी जानकारी जुटा पाएगा। इसमें युवाओं को नए-नए अवसर मिलेंगे, जिसके माध्यम से वे डिग्री, डिप्लोमा कर आगे बढ़ सकेंगे।

लोकल, नेशनल व इंटरनेशल जानकारी
खास बात यह है कि इस कैरियर गाइडेंस पोर्टल के माध्यम से विद्यार्थयों को साढ़े 500 से अधिक कैरियर के बारे में जानकारी मिलेगी। इसमें लोकल से लेकर डिवीजन, स्टेट, नेशनल और इंटरनेशनल कॉलेजों और इंस्टीट्यूट की जानकारी दी जा रही है। 21 हजार कॉलेज, 1150 प्रवेश परीक्षा, वोकेशनल कोर्सेस, 1120 छात्रवृत्ति के बारे में जानकारी दी जा रही है। खास बात यह है कि छात्र जब पोर्टल पर विजिट करेगा तो उसे संपूर्ण जानकारी के मैसेज मिलेंगे। इसके लिए शिक्षकों को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। छात्रों की सही तरीके से काउंसलिंग और उनके कैरियर को संवारने के लिए कहा गया है।

इनका कहना है
छात्रों की जनवरी माह में अभिरुचि व अभिक्षमता टेस्ट लिया गया था। उसकी ऑनलाइन रिपोर्ट आ गई है। प्रवेश के समय विद्यार्थियों की काउंसलिंग की जाएगी। इसके लिए प्राचार्यों को ऑनलाइन बैठक में जानकारी दी गई है। छात्रा को विषय की रुचि अनुसार 11वीं में प्रवेश दिलाया जाएगा। इसके अलावा पोर्टल के माध्यम से कैरियर संबंधी जानकारी मिलेगी।
अभय जैन, एपीसी।

Corona virus
balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned